नई दिल्ली, एएनआइ। दिल्ली पुलिस ने पूर्वी दिल्ली से भाजपा सांसद गौतम गंभीर से अपने इलाके में फैबीफ्लू दवा वितरण करने को लेकर जवाब मांगा है। दरअसल कुछ समय पहले सांसद के कार्यालय पर लोगों को फैबिफ्लू की दवा का वितरण किया जा रहा था जबकि दिल्ली के अस्पतालों और अन्य जगहों पर ये दवाइयां नहीं मिल पा रही थीं। इसको लेकर दिल्ली पुलिस के पास शिकायत भी पहुंची थी। शिकायत मिलने के बाद दिल्ली पुलिस ने सांसद को लेटर भेजकर इसका जवाब मांगा है। वहीं इस मामले में सांसद गौतम गंभीर ने कहा कि वो दिल्ली की जनता की सेवा करते रहेंगे। उन्होंने कहा कि उनके पास दवाओं को मंगाने और उसका वितरण करने का सारा रिकॉर्ड मौजूद है। वो उसे उपलब्ध करवा देंगे।

जब राजधानी में कोरोना के मामले तेजी से बढ़ रहे थे, बहुत सी दवाईयां बाजार से गायब थीं लोग दर-दर भटक रहे थे उस समय सांसद गौतम गंभीर फैबिफ्लू नाम की दवाई लोगों को निश्शुल्क उपलब्ध करवा रहे थे। सांसद ने 260 लोगों को यह दवाई उपलब्ध करवाई थी। सांसद ने बताया कि फैबिफ्लू दवाई कोरोना संक्रमित मरीजों को दी जा रही हैं, बाजार में इस दवाई की काफी किल्लत है। जिन लोगों में कोरोना के लक्षण गंभीर होते हैं, उन्हें यह दवाई दी जाती है। बाजार में बहुत मुश्किल से यह दवाई मिल पा रही है, उन्होंने किसी तरह से इस दवाई का प्रबंध किया है। जरूरतमंद लोगों को यह दवाई दे रहे हैं।

जागृति एन्क्लेव स्थित उनके कार्यालय पर इस दवाई का वितरण किया गया था। उन्हीं लोगों को यह दवाई दी गई थी जिन्हें डाक्टर लिख कर दे रहे थे। डाक्टर के पर्चे के साथ ही व्यक्ति का आधार कार्ड भी लिया गया। उन्होंने बताया कि उनकी कोशिश थी कि संसदीय क्षेत्र के हर एक जरूरतमंद तक को यह दवाई मिल पाएं, उनके कार्यालय में अगर दिल्ली से कहीं का भी व्यक्ति यह दवाई लेने आया था तो वह उसे उपलब्ध करवाई गई।