नई दिल्ली, जागरण संवाददाता। दिल्ली के इंद्रपुरी इलाके में पत्नी के गर्भपात करवाने से नाराज पति ने ऐसा खूनी तांडव किया कि दो लोगों की जान चली गई, जबकि एक की हालत गंभीर है। दरअसल इस शख्स ने पत्नी समेत उसके परिवार के चार सदस्यों को थैलियम जहर देकर मौत की पटकथा लिखी। घटना में आरोपित पति की सास अनीता व साली प्रियंका शर्मा की मौत हो गई, जबकि पत्नी दिव्या जिंदगी और मौत के बीच जंग लड़ रही है। ससुर देविंदर पर भी अब जहर का असर होने लगा है, फिलहाल वह निगरानी में हैं। पुलिस ने मामला दर्ज कर ग्रेटर कैलाश पार्ट-1 निवासी आरोपित पति वरुण अरोड़ा को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने जांच की कड़ी में आरोपित वरुण अरोड़ा के घर से छोटी कांच की बोतल में मौजूद थैलियम जहर बरामद कर लिया है। साथ ही उसका मोबाइल व लैपटाप भी जब्त कर लिया है।

इंटनरेट पर तलाशा था जहर का नाम

वरुण ने पुलिस को बताया कि वह ससुराल वालों को मारने की साजिश पिछले काफी समय से रच रहा था। इंटरनेट मीडिया पर वह जहर के बारे में सर्च कर रहा था। इसी दौरान उसने इराक के तानाशाह रहे सद्दाम हुसैन के बारे में एक किताब पढ़ी। किताब में इस बात का जिक्र है कि सद्दाम हुसैन अपने विरोधियों को मारने के लिए थैलियम जहर का इस्तेमाल करता था और यहीं से उसने वारदात को अंजाम देने की सोची।

स्वास्थ्य संबंध समस्या होने पर चला जहर दिए जाने का पता

जानकारी के मुताबिक आरोपित की सास अनीता को स्वास्थ्य संबंधी परेशानी होने के बाद सर गंगाराम अस्पताल में भर्ती कराया गया। चिकित्सकों ने खून की जांच में पाया कि अनीता को किसी ने थैलियम जहर दिया है। धीरे-धीरे यह जहर पूरे शरीर में फैल गया और 22 मार्च को अनीता की मौत हो गई। मामला संगीन लगने के बाद इसकी जानकारी पुलिस को दी गई।

मछली खिलाने के साथ दिया था जहर

ब्लाइंड मर्डर मिस्ट्री को सुलझाने के लिए एसएचओ इंद्रपुरी सुरेंद्र सिंह और नारायणा के इंस्पेक्टर प्रमोद के नेतृत्व में टीम बनाई गई। पुलिस को पूछताछ में पता चला कि देविंदर की छोटी बेटी प्रियंका की मौत बी एल कपूर अस्पताल में 15 फरवरी को हो गई थी। साथ ही बड़ी बेटी दिव्या, देविंदर व घरेलू सहायिका भी बीमार हैं। सभी को थैलियम जहर दिया गया है। छानबीन के दौरान पुलिस को पता चला कि जनवरी के अंत में वरुण इंद्रपुरी आया था और पार्टी देने के नाम पर अपने ससुराल वालों को मछली खिलाई थी। इसके बाद टीम का संदेह वरुण पर गया। पुलिस ने वरुण को हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू की। पहले वह पुलिस को उलझाने का प्रयास करने लगा लेकिन बाद में उसने अपना गुनाह कुबूल कर लिया।

गर्भपात कराने से था नाराज

पुलिस पूछताछ में वरुण ने बताया कि उसकी पत्नी दिव्या पिछले वर्ष गर्भवती थी और उसको लग रहा था कि बच्चे के रूप में उसके पूर्वज जन्म लेंगे। वहीं, इस दौरान दिव्या को कई परेशानियां होने लगी और चिकित्सकों की सलाह पर उसने गर्भपात करा लिया। इससे दोनों के बीच झगड़ा हुआ और हालत यह हो गई कि दिव्या अपने जुड़वा बेटा-बेटी के साथ मायके आ गई। वहीं पीड़ित परिवार के सदस्यों ने बताया कि वरुण का किसी महिला के साथ चक्कर चल रहा है और इसी कारण उसने ससुराल वालों को मौत की नींद सुलाने की साजिश रची। पुलिस अब दोनों पक्षों के बयान की जांच में जुट गई है।

वरुण ने खुद व बच्चे को नहीं खाने दी मछली

ससुराल में पार्टी देने के नाम पर वरुण ने मछली मंगाई थी और मछली उसने न तो खुद खाई और न ही अपने दोनों बच्चों को खाने दिया। उसने खुद दांत दर्द का बहाना बनाकर मछली खाने से असमर्थता जता दी।

एक महीने से वेंटीलेटर पर है दिव्या

वरुण की पत्नी दिव्या सर गंगाराम अस्पताल में पिछले एक महीने से जिंदगी और मौत के बीच जंग लड़ रही है। वह वेंटीलेटर पर है और बातचीत करने की हालत में नहीं है। वहीं, वरुण के ससुर देविंदर ने कम मात्रा में मछली खाई थी इस कारण उनपर अब असर दिखाई देने लगा है। उनके बाल उड़ने शुरू हो गए हैं। उनका इलाज घर पर ही चल रहा है। वहीं, घरेलू सहायक पहले आरएमएल अस्पताल में भर्ती हुई बाद में उसके स्वजन कोलकाता लेकर चले गए।

क्या है थैलियम जहर

चिकित्सा विशेषज्ञ डॉ संदीप दहिया ने बताया कि थैलियम धीमा जहर है। यह सबसे पहले नर्वस सिस्टम पर वार करता है। साथ ही इससे कमजोरी, डायरिया, बाल उड़ने शुरू हो जाते हैं। वहीं हार्ट व लंग्स को भी प्रभावित करता है और बाद में व्यक्ति की मौत हो जाती है।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021