नई दिल्ली, जागरण डिजिटल डेस्क। पहाड़ी राज्यों में शुमार हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड के साथ केंद्र शासित प्रदेश जम्मू कश्मीर में हो रही बर्फबारी के चलते दिल्ली-एनसीआर में मौसम का मिजाज पूरी तरह से बदल गया है। बढ़ती ठंड का ही असर है कि लोगों ने कंबल, रजाई, स्वेटर और जैकट निकाल लिए है। गाजियाबाद, गुरुग्राम, फरीदाबाद, नोएडा समेत एनसीआर के शहरों में लोगों ने इनका इस्तेमाल भी करना शुरू कर दिया है। बृहस्पतिवार को दिल्ली-एनसीआर में लोगों ने जोरदार ठंड महसूस की। ज्यादातर लोग मार्निंग वाक से परहेज करते दिखे, इसी के साथ जो निकले भी वह पूरी एहतियात के साथ 

मौसम विभाग के अनुसार उत्तर पश्चिमी हवा के साथ पहाड़ों पर हो रही बर्फबारी की ठंडक भी दिल्ली पहुंच रही है। इसीलिए ठंड में लगातार इजाफा हो रहा है। मौसम विभाग के मुताबिक, बृहस्पतिवार सुबह तो ठंड है और दिनभर आसमान साफ रहेगा। हालांकि, दिल्ली-एनसीआर में कई जगहों पर सुबह के समय हल्की धुंध भी नजर आई। बृहस्पतिवार को अधिकतम एवं न्यूनतम तापमान क्रमश: 29 और 14 डिग्री सेल्सियस रहने की संभावना है।

मौसम विभाग का यह भी कहना है कि उत्तर पश्चिम से आ रही ठंडी हवाओं के कारण दिल्ली एनसीआर में तापमान में गिरावट आएगी। न्यूनतम तापमान अभी 14 डिग्री सेल्शियस है जो एक नवंबर को 13 डिग्री सेल्शियस तक जा सकता है।

पंखे करने पड़े बंद

खासतौर से बुधवार शाम से ही ठंड बढ़ने के लगी। इसके चलते दिल्ली-एनसीआर में लोगों को रात को पंखे बंद करने पड़े और बढ़ती ठंड के चलते लोगों को रजाई और कंबल का सहारा लेना पड़ा। भारतीय मौसम विज्ञान विभाग की मानें तो ठंड का बढ़ना जारी रहेगा, ऐसे में लोग ठंड के प्रति लापरवाही दिखाने से बचें। गर्म कपड़े पहनें ताकि बदलते मौसम का शिकार होने से  बचें।

पहाड़ों पर हो रही बर्फबारी की ठंडक दिल्ली में लगातार ठंड बढ़ा रही है। न्यूनतम तापमान 15 डिग्री से भी नीचे आ गया है। बुधवार को इस सीजन का सबसे कम न्यूनतम तापमान दर्ज हुआ। ठंड में इजाफे का दौर यूं ही जारी रहने की संभावना है।बुधवार सुबह दिल्ली में इस सीजन में पहली बार अच्छी ठंडक का एहसास हुआ। पार्क में सैर के लिए जाने वालों को खासतौर पर ठंड लगी। हालांकि दिन में धूप खिली रही और दिन भर आसमान भी साफ रहा। अधिकतम तापमान सामान्य से तीन डिग्री कम 28.2 डिग्री सेल्सियस जबकि न्यूनतम तापमान सामान्य से दो डिग्री कम 14.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। हवा में नमी का स्तर 41 से 94 फीसद रहा।

Edited By: Jp Yadav