नई दिल्ली [वी.के. शुक्ला]। आम आदमी पार्टी (आप) की ओर से नगर निगम के प्रभारी दुर्गेश पाठक के नेतृत्व में दिल्ली नगर निगम सफाई मजदूर फेडरेशन की एक बैठक हुई। बैठक में सफाई कर्मचारियों ने भाजपा शासित एमसीडी से संबंधित अपनी मांगों और समस्याओं को विस्तार में साझा किया।इस दौरान आप विधायक कुलदीप कुमार और आजादपुर मंडी के चेयरमैन आदिल अहमद खान भी मौजूद थे।

दिल्ली नगर निगम सफाई मजदूर फेडरेशन के साथ हुई बैठक को संबोधित करते हुए पाठक ने कहा कि हाल ही में दिल्ली सरकार ने 25 लोगों की सूची निकाली जिन्होंने कोरोना के समय जनता की सेवा करते हुए अपनी जान गंवा दी।उनको दिल्ली सरकार ने एक-एक करोड़ का मुआवजा दिया।इस सूची को आप देखेंगे तो इसमें दिल्ली नगर निगम के कर्मचारियों को छोड़कर अन्य सभी कर्मचारियों के नाम शामिल हैं।

उन्होंने कहा कि इससे दुर्भाग्य की स्थिति क्या हो सकती है? कि 56 निगम कर्मचारियों की जान चली गई लेकिन दिल्ली सरकार केवल दो कोरोना योद्धाओं को ही मुआवजा देने में सफल रही। उन्होंने आरोप लगाया कि दिल्ली सरकार ने निगम से विभागों के अनुसार कर्मचारियों की फाइल मांगी लेकिन भाजपा ने नहीं दी। दूसरी बात यह है कि आम आदमी पार्टी ने इस मुद्दे को लेकर एक कमेटी बनाई तो भाजपा ने वह कमेटी ही भंग करा दी।

वह लोग हाईकोर्ट चले गए और हाई कोर्ट ने कह दिया कि कमेटी को हमें सुनने का अधिकार ही नहीं है।उन्होंने कहा कि ऐसी ही अनेकों समस्याओं पर हम काम करेंगे।उन्होंने कहा कि मैं निगम आयुक्त से मिल कर कोरोना योद्धाओं को मिलने वाले एक करोड़ के मुआवजे के मुद्दे पर चर्चा करूंगा।

यदि वह मेरी इस मांग को मंजूर नहीं करते हैं तो अगले हफ्ते हम आम आदमी पार्टी के सभी पदाधिकारियों के साथ सिविक सेंटर का घेराव करेंगे।

Edited By: Pradeep Kumar Chauhan

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट