नई दिल्ली, जागरण संवाददाता। अपने मालिक को धोखा देने के लिए एक युवक ने खुद के साथ लूट की झूठी कहानी गढ़ ली, लेकिन पुलिस जांच में उसका भेद खुल गया जिसके बाद युवक को पुलिस ने धर दबोचा। उससे मोबाइल बरामद हुआ है। दक्षिणी जिले की पुलिस उपायुक्त डीसीपी बेनिता मेरी जैकर ने बताया कि युवक की पहचान पर्यावरण कांप्लेक्स निवासी लखनलाल के रूप में हुई है। 19 जनवरी को पीसीआर काल से फतेहपुर बेरी इलाके के बांध रोड पर लूट की सूचना मिली थी।

मौके पर पहुंची पुलिस को शिकायतकर्ता ने बताया कि वह दूध और अन्य सामान की सप्लाई करता है। सुबह आठ बजे जब वह कार से जा रहा था तभी चांदनहुला गांव के नजदीक बाइक सवार तीन लोगों ने उससे मोबाइल और चौदह हजार रुपये लूट लिए। पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू की। पुलिस ने इलाके में लगे सीसीटीवी कैमरे की फुटेज चेक की तो पीडि़त कार में घूमता तो नजर आया, लेकिन वह बाइक नहीं दिखी जिस से बदमाशों के आने का जिक्र किया गया था।

संदेह होने पर पुलिस ने लखनलाल से सख्ती से पूछताछ की गई तो उसने कुबूल कर लिया कि उसके साथ कोई वारदात नहीं हुई है। उसने बताया कि मालिक के आठ हजार रुपये वह अपने भाई के अकाउंट में आनलाइन ट्रांसफर कर चुका है। मालिक के ये पैसे हजम करने के लिए उसने लूट की झूठी साजिश रची।

Edited By: Mangal Yadav