नई दिल्ली, जेएनएन। Lok Sabha Elections 2019: लोकसभा चुनाव-2019 के लिए जहां एक ओर प्रथम चरण में बृहस्पतिवार को 20 राज्यों की 91 सीटों पर सुबह 7 बजे से मतदान शुरू हो चुका है। वहीं, देश की राजधानी दिल्ली से बड़ी खबर आ रही है। गठबंधन को लेकर कांग्रेस और आम आदमी पार्टी (AAP) के बीच चल रही नूरा-कुश्ती पर बुधवार को AAP सांसद संजय सिंह ने विराम लगा दिया। उन्होंने कहा कि आप और कांग्रेस में अब कोई गठबंधन नहीं होगा। गठबंधन नहीं होने के लिए उन्होंने कांग्रेस को कठघरे में खड़ा किया।

संजय सिंह ने कहा कि कांग्रेस भाजपा को फायदा पहुंचाना चाह रही है। इसलिए एक अव्यावहारिक समझौता करना चाहती थी, जो कि संभव नहीं था। एकतरफा समझौता किसी कीमत पर नहीं हो सकता है। पंजाब में AAPके चार सांसद और 20 विधायक हैं। कांग्रेस वहां AAP को एक भी सीट देने को तैयार नहीं है। हरियाणा में कांग्रेस का केवल एक सांसद है, वहां पर भी वह AAP को सीट देने के लिए तैयार नहीं है। इसी तरह गोवा में AAPने छह फीसद से ज्यादा वोट हासिल किए थे, लेकिन वहां पर भी कांग्रेस सीट देने को तैयार नहीं।

चंडीगढ़ में भी कांग्रेस समझौते को तैयार नहीं। दिल्ली में जहां कांग्रेस का न कोई सांसद है और न विधायक, वहां पर तीन सीट मांग रही है, जो अव्यावहारिक है। इससे पहले पार्टी कार्यालय में आयोजित प्रेसवार्ता में AAP के दिल्ली संयोजक गोपाल राय ने कहा कि कांग्रेस गठबंधन के मूड में नहीं लग रही है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने हरियाणा और पंजाब में AAP से गठबंधन नहीं करने का बयान दिया था।

इस पर AAP ने पूछा था कि यह उनका निजी बयान है या कांग्रेस का। इसका कांग्रेस ने अब तक कोई जवाब नहीं दिया। गोपाल राय ने कहा कि कांग्रेस अभी भी महाभ्रम की स्थिति में है। कांग्रेस के नेता तय नहीं कर पा रहे हैं कि मोदी को हराएं या कांग्रेस को बचाएं। कांग्रेस विपक्ष को कमजोर करने का काम कर रही है।

Posted By: JP Yadav

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप