फरीदाबाद, जेएनएन। Lok Sabha Election 2019: लोकसभा चुनाव-2019 के तहत दिल्ली से सटे हरिणाया की सभी 10 सीटों पर आगामी 12 मई को मतदान होना है, लेकिन चुनाव प्रचार में अभी से तेजी आ चुकी है। इस कड़ी में दिल्ली से सटे फरीदाबाद में रविवार को सीएम मनोहर लाल खट्टर ने जनसभा को संबोधित किया। इस दौरान मंच पर अजब नजारा देखने को मिला। इस दौरान होडल क्षेत्र के पूर्व विधायक रामरतन को मुख्यमंत्री के मंच पर बोलने का मौका नहीं दिया गया वो मंच पर फूट-फूट कर रोने लगे और कृष्ण पाल के साथ अन्य नेताओं ने रामरतन को समझाया और रोने से चुप कराया। 

इस बाबत एक वीडियो भी वायरल हो रहा है, जिसमें होडल विधानसभा क्षेत्र से पूर्व में विधायक रहे राम रतन काफी देर तक रोते नजर आ रहे हैं। दूसरी ओर मंच से लोगों को संबोधित किया जाता है। रामरतन को रोता हुआ देखकर कृष्णपाल समेत अन्य बीजेपी नेताओं ने उन्हें समझाने की कोशिश की और चुप कराया।

हैरानी की बात है कि पूर्व भाजपा विधायक रामरतन से उनकी नाराजगी की वजह जानने की कोशिश की गई, लेकिन उन्होंने कुछ भी बोलने से इनकार कर दिया। इतना ही नहीं, उन्होंने यहां तक कहा कि पार्टी से उनकी कोई नाराजगी नहीं है। 

 

यहां पर बता दें कि सीएम मनोहर लाल खट्टर ने होडल विधानसभा के औरंगाबाद में रविवार को भारतीय जनता पार्टी की विजय संकल्प रैली को संबोधित किया। उन्होंने यहां पर राष्ट्रवाद के साथ हरियाणा के विकास की भी बात की। 

सीएम की इस रैली से तीन विधानसभा क्षेत्र के मतदाताओं को भाजपा ने अपने पक्ष में करने की कोशिश की। ऐसा इसलिए क्योंकि होडल, हथीन और पलवल विधानसभा क्षेत्र से अच्छे वोट पाने वाले सांसद कृष्णपाल गुर्जर की जीत के बावजूद विधानसभा चुनाव में पार्टी को हार मिली थी। इन तीनों विधानसभा क्षेत्र में 6 महीने बाद हुए चुनाव में होडल व पलवल में कांग्रेस के उम्मीदवार जीतकर विधायक बने थे। 

 दिल्ली-NCR की ताजा खबरों को पढ़ने के लिए यहां करें क्लिक

 

Posted By: JP Yadav

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप