नई दिल्ली [वीके शुक्ला]। दिल्ली में जारी कोरोना के कहर के चलते 20 अप्रैल से चल रहा लॉकडाउन एक सप्ताह के लिए और बढ़ा दिया गया है। यह अभी 10 मई सुबह पांच बजे समाप्त हो रहा था जो अब 17 मई सुबह पांच बजे तक जारी रहेगा। कोरोना की चेन तोड़ने के लिए इस बार लाकडाउन को और सख्त बना दिया गया है। लॉकडाउन को लेकर मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की घोषणा के बाद मुख्य सचिव विजय देव द्वारा जारी आदेश के अनुसार 10 मई से मेट्रो का परिचालन बंद कर दिया गया है। सार्वजनिक स्थल, मैरिज होम, बैंक्वेट हाल या होटल आदि में शादी पर प्रतिबंध लगा दिया गया है, लेकिन घर या कोर्ट में शादी हो सकेगी। जिसमें मात्र 20 लोग शामिल होंगे।

आदेश में स्पष्ट किया गया है जिन होटलों, मैरिज होम, बैंक्वेट हाल या डीजे को शादी के लिए बुक किया गया है वे पैसे लौटाएंगे। अवैध रूप से चल रहे साप्ताहिक बाजार बंद किए जाएंगे, दवाइयां, सब्जी व किराना दुकानों पर जाने पर मास्क लगाना अनिवार्य होगा। लॉकडाउन के दौरान ई-पास धारक व्यक्ति राजधानी में दिन या रात के समय आवश्यक सामान की डिलीवरी आदि के लिए आवागमन कर सकेंगे। सभी जिलाधिकारी व डीसीपी इन आदेशों का सख्ती से पालन कराएगें।

दिल्ली में ऑक्सीजन की मांग कई गुना बढ़ी

सीएम ने प्रेसवार्ता कर लॉकडाउन बढ़ाने की घोषणा करते हुए कहा कि लॉकडाउन के बाद कोरोना की चेन टूटनी शुरू हो गई है। 26 अप्रैल को संक्रमण दर 35 फीसद थी, जो अब घटकर 23 फीसद है। अभी ढिलाई नहीं दी जा सकती, नही तो, जो हमने हासिल किया है, वह भी खत्म हो जाएगा।

सीएम ने कहा कि दिल्ली में केस कुछ कम होने शुरू हो गए हैं। इसमें जनता का बहुत ज्यादा सहयोग रहा है। दिल्ली के लोगों ने जमकर सहयोग किया है। आज हम सबकी अपने स्वास्थ्य और अपनी जिंदगी की बात है। दिल्ली में सबसे बड़ी दिक्कत ऑक्सीजन की आई है। सामान्य दिनों में अस्पतालों में जितनी ऑक्सीजन चाहिए होती है, उससे कई गुना ऑक्सीजन की जरूरत पड़ने लगी, क्योंकि अब जितने भी कोरोना के मरीज आते थे, उन सब को आक्सीजन की जरूरत होती थी।

सुप्रीम कोर्ट, हाईकोर्ट के आदेशों और केंद्र सरकार के सहयोग से दिल्ली में अब स्थिति सुधरी

सीएम ने कहा कि पिछले कुछ दिनों में हाई कोर्ट और सुप्रीम कोर्ट के आदेशों से और केंद्र सरकार के सहयोग से अब ऑक्सीजन की स्थिति दिल्ली के अंदर काफी कुछ सुधरी है। इस लॉकडाउन के दौरान में हमने सिस्टम को भी सुधार करने में काफी काफी प्रयास किए।

अगर जिंदगी बचेगी, तो बाद में भी बहुत कुछ कर लेंगे

मुख्यमंत्री ने कहा कि यह मुश्किल दौर है। यह लहर काफी खतरनाक है, इतने मौत लोगों की मौत हो रही है। जान है, तो जहान है। अगर जिंदगी बचेगी, तो बाद में और भी बहुत कुछ कर लेंगे। इस समय सबसे पहले हमें जिंदगी बचानी है। हमारी कोशिश है कि लॉकडाउन को जितना ज्यादा सख्त किया जाएगा, उतना तेजी से हम सब लोग कोरोना पर काबू पा पाएंगे। अरविंद केजरीवाल ने सभी से अपील की कि जिस तरह से अभी तक आप लोगों ने सरकार का साथ दिया है, जिस तरह से अभी तक आप लोगों ने पूरे लॉकडाउन का पालन किया है। इसी तरह से आने वाले समय में अभी आप सब लोग लॉकडाउन का पालन करेंगे।