मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

नई दिल्ली, जेएनएन। आनंद विहार बस अड्डे के पास लिफ्ट के बहाने लोगों को बंधक बनाकर लूटपाट करने वाले एक गिरोह का पटपड़गंज औद्योगिक क्षेत्र थाना पुलिस ने पर्दाफाश किया है। पुलिस ने गिरोह के तीन बदमाशों को दबोच लिया है। आरोपितों की पहचान फईम (30) निवासी उस्मानपुर, प्रेम कुमार (30) और गौरव (19) निवासी हर्ष विहार के रूप में हुई है।

पुलिस ने इनके पास से वारदात में प्रयुक्त मारुति इको वैन और लूटा गया एक मोबाइल फोन बरामद किया है। तीनों पर अलग-अलग थाना क्षेत्रों में कई मामले दर्ज हैं। पुलिस उपायुक्त जसमीत सिंह ने बताया कि गत 5-6 सितंबर की रात ईडीएम मॉल के पिज्जा हट में डिलीवरी ब्वॉय का काम करने वाले गौरव नामक युवक को आनंद विहार बस अड्डे के सामने लिफ्ट देकर लूट लिया था। बाद में आरोपितों ने उनके डेबिट कार्ड से सात हजार रुपये भी निकाल लिए थे।

शिकायत पर केस दर्ज किया गया। मामले की जांच के लिए इंस्पेक्टर बिरेंदर सिंह की देखरेख में एसआइ मूलचंद, हेडकांस्टेबल जगसोरन, भूपेंदर आदि की टीम गठित की गई। टीम ने वारदात स्थल के आसपास लगे सीसीटीवी कैमरों की फुटेज खंगाली। इसमें मारुति इको वैन के वारदात में इस्तेमाल होने का पता चला। जांच में पता चला कि वारदात के बाद यह कार उस्मानपुर गई थी।

इसके साथ पुलिस को यह भी पता चला कि वारदात के समय फईम नामक शातिर बदमाश आनंद विहार बस अड्डे के पास देखा गया था। पुलिस ने फईम के संभावित ठिकानों पर छापेमारी की और उसे उस्मानपुर इलाके से दबोच लिया। उसकी निशानदेही पर पुलिस ने आनंद विहार बस अड्डे के पास ही प्रेम और गौरव को पकड़ा। उस समय दोनों इको वैन में शिकार की तलाश में थे। गौरव के पास से पुलिस को एक कट्टा भी मिला। पुलिस अधिकारियों ने बताया कि इनके एक चौथे साथी की तलाश जारी है। तीनों से पूछताछ कर मामले की जांच की जा रही है।

दिल्‍ली-एनसीआर की खबरों को पढ़ने के लिए यहां करें क्‍लिक

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप