नई दिल्ली (जेएनएन)। 90 के दशक में टेलीविजन की दुनिया के सर्वाधिक चर्चित क्राइम शो ‘इंडियाज मोस्ट वांटेड’ के निर्माता-निर्देशक सुहैब इलियासी को दिल्ली के कड़कड़डूमा कोर्ट ने उम्रकैद की सजा सुनाई है। शनिवार को दिल्ली की कोर्ट ने पत्नी अंजू इलियासी को मौत के घाट उतारने के जुर्म में दोषी करार दिया था। सुहैब को अदालत ने पत्नी की हत्या  के 17 साल बाद सजा सुनाई।

लोगों के साथ मनोचिकित्सक भी हैरान है कि कोई समझदारी भरा क्राइम शो चलाने वाला शख्स कैसे अपनी पत्नी की हत्या कर सकता है।  सुहैब और अंजू की परिवारवालों की मर्जी के खिलाफ हुई थी शादी, दोनों जामिया में साथ पढ़ते थे।

जानकारी के मुताबिक, दिल्ली के जामिया मिलिया इस्लामिया से पढ़ाने करने वाले सुहैब इलियासी से गैरधर्म की अंजू से मोहब्बत की और फिर शादी की। दो अलग धर्म से वास्ता रखने वाले अंजू और सूहैब के लिए यह शादी आसान नहीं थे, लेकिन अंजू से शादी के लिए सुहैब पूरी दुनिया से लड़ गया था। 

कहा जाता है कि सुहैब इलियासी की जिंदगी में पत्नी अंजू के आने बाद उसकी किस्मत ने पलटी खाई। कुछ ही महीनों के मेहनत के बाद सुहैब इलियासी टेलीविज़न के पॉपुलर क्राइम शो इंडियाज मोस्ट वांटेड का एंकर बन गया। इसके बाद उसने पीछे मुड़कर नहीं देखा।

यहां से जिंदगी ने लिया बर्बादी का मोड़

कहते हैं कि खुद का लाया तूफान जिंदगी को बर्बाद कर देता है। तकरीबन 17 साल पहले 11 जनवरी 2000 को  पूर्वी दिल्ली के उसके घर के अंदर अंजू इलियासी की संदिग्ध हालत में लाश मिली थी। उसके शरीर के ऊपर कई जख्म के निशान थे।

सुहैब ने पुलिस से कहा कि अंजू ने खुदकुशी करने की कोशिश की थी, लेकिन हालात सुहैब के खिलाफ थे और सुबूत भी। सुहेब पर दहेज रजिस्टर्ड होने के बाद पुलिस ने उसे 28 मार्च 2000 को में गिरफ्तार कर लिया था।

सुहैब पर साली और साले ने आरोप लगाया था कि सुहैब अपनी पत्नी को बुरी तरह पीटता था। वहीं, हत्या के बाद सुहेब ने अंजू की दोस्त रीता को बताया था कि उसने खुदकुशी कर ली है।

Posted By: JP Yadav

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप