नई दिल्ली [संजीव गुप्ता]। सर्दियों में वायु प्रदूषण से बचाव के लिए उप राज्यपाल वीके सक्सेना ने राजधानी की 125 ऊंची इमारतों पर एंटी स्माग गन लगाने का निर्देश दिया है। यह निर्देश उन्होंने बुधवार को अलग-अलग विभागों के अधिकारियों के साथ बैठक में प्रदूषण की रोकथाम को लेकर चर्चा के दौरान दिए। दरअसल, बैठक में एलजी को बताया गया कि एंटी स्माग गन लगाने के लिए 40 ऊंची इमारतों की पहचान की गई है। इस पर एलजी न कहा कि कम से कम 125 इमारतों की पहचान की जानी चाहिए।

बैठक में एलजी ने इस तथ्य पर भी चिंता व्यक्त की कि धूल और परिवहन उत्सर्जन अभी तक क्रमशः 26 और 41 प्रतिशत प्रदूषण के लिए जिम्मेदार है। उन्होंने सख्त प्रवर्तन संबंधित परियोजनाओं को समयबद्ध पूरा करने और स्थिति की रियल टाइम मानिटरिंग करने के साथ तत्काल कदम उठाने का आह्वान किया।धूल प्रदूषण की रोकथाम के लिए एलजी ने नगर निगम को 15 अक्तूबर से अभियान शुरू करने के निर्देश दिए हैं।

इस दौरान पांच सौ वर्ग मीटर से ज्यादा के निर्माण व ध्वस्तीकरण स्थलों का अनिवार्य पंजीकरण कराने पर जोर दिया जाएगा। अभी तक सिर्फ 26 प्रतिशत द्वारा ही पंजीकरण कराए जाने की बात कही जा रही है। एलजी ने नगर निगम और लोक निर्माण विभाग से कहा कि यह भी सुनिश्चित करने को कहा कि फुटपाथ और सड़क के बीच की सेंट्रल वर्ज पर हरियाली की जाए तथा सड़कों पर गड्ढे नहीं हों ताकि धूल को उड़ने से रोका जा सके।

बैठक में वायु गुणवत्ता प्रबंधन आयोग के अध्यक्ष एमएम कुट्टी, पर्यावरण व वन विभाग, दिल्ली प्रदूषण नियंत्रण समिति, दिल्ली विकास प्राधिकरण, एमसीडी, पीडब्लूडी, परिवहन, यातायात पुलिस, सीपीडब्लूडी और एनडीएमसी के अधिकारी शामिल रहे।

पटाखों पर पाबंदी के लिए पुलिस के साथ बनेगी योजना

पटाखों पर पाबंदी लगाने के लिए पर्यावरण विभाग दिल्ली पुलिस के साथ मिलकर योजना तैयार करेगा। खासतौर पर आनलाइन पटाखों की बिक्री और डिलीवरी पर रोक लगाने का प्रयास किया जाएगा। पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने बताया कि पिछले साल आनलाइन पटाखों की खरीद की गई थी।

लेकिन, इस बार इस पर भी पूरी तरह से रोकथाम का प्रयास किया जाएगा। उन्होंने कहा कि इसके लिए पुलिस के साथ मिलकर कार्ययोजना बनाई जाएगी। पटाखों पर रोक के लिए उन्होंने दिल्ली के लोगों से भी अपील की। कहा कि साफ-सुथरी हवा के लिए पटाखों की बजाय दिए जलाकर दीपावली मनाई जानी चाहिए।

Edited By: Pradeep Kumar Chauhan

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट