नई दिल्ली/गाजियाबाद/नोएडा, आनलाइन डेस्क। उत्तर प्रदेश समेत पांच राज्यों में होने वाले आगामी विधानसभा चुनाव को लेकर गहमागहमी तेज हो गई है। चुनाव आयोग  ने आगामी 22 मार्च तक सार्वजनिक रैली और जुलूस समेत कई तरह भीड़ जुटाने वाले प्रचार पर रोक लगा रखी है तो टेलीविजन चैलनों समेत इंटरनेट मीडिया के तमाम माध्यम से पार्टी प्रत्याशी अपने-अपने पक्ष में माहौल बनाने में जुट गए हैं। इस पर देश के जाने-माने कवि कुमार विश्वास तंज कसा है।

उन्होंने ट्वीट किया है- 'चुनावी-मैदान में उतरे नेताओं और प्रत्याशियों को अपने-अपने चैनलिया-पत्रकारों से सीखना चाहिए कि अपनी पार्टी को जिताने के लिए किस बेशर्म पागलपन से जुटना पड़ता है, कैसे दर्शकों आंखों में धूल झोंककर विमर्श को अपने दल के पक्ष में मोड़ा जाता है। ग़ज़ब दम झोंके हैं TV वाले।'

यहां पर बता दें कि चुनाव आयोग द्वारा मतदान की तारीखों के ऐलान के साथ ही इंटरनेट मीडिया के साथ ही मेन स्ट्रीम मीडिया में भी चुनावी घमासान मचा है। इंटरनेट मीडिया पर अपनी-अपनी पार्टी के समर्थक जमकर प्रत्याशियों के पक्ष में माहौल बनाने में लगे हैं। इसके इतर, टेलीविजन न्यूज चैनलों पर रोजाना कई घंटे के कार्यक्रम दिखाए जा रहे हैं, जिस पर विभिन्न दलों के प्रत्याशी आपस में जुबानी और बदजुबानी तक कर रहे हैं। ऐसे माहौल के मद्देनजर कवि कुमार विश्वास ने ट्वीट कर तंज कसा है। 

बता दें कि उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड और पंजाब समेत पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव होने हैं। हालांकि, उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव पर देशभर के नजरें गड़ी हैं, यहां पर कुल 403 विधानसभा सीटें पर। सीटों के लिहाज से उत्तर प्रदेश देश में पहले स्थान पर है, इसी तरह लोकसभा सीटों के लिहाज से भी यूपी पहले स्थान पर हैं। सूबे में 80 लोकसभा सीटे हैं।

गौरतलब है कि पांचों राज्यों के चुनाव परिणाम 10 मार्च को आएंगे। जहां तक उत्तर प्रदेश की बात है तो यहां पर सात चरणों में मतदान होगा और पहले चरण के लिए 58 सीटों पर मतदान 10 फरवरी को होगी। इसमें सभी सीटें पश्चिमी उत्तर प्रदेश की हैं।

दिल्ली-एनसीआर में ठंड और बारिश को लेकर पढ़िये मौसम विभाग का ताजा पूर्वानुमान

Edited By: Jp Yadav