नई दिल्ली, जेएनएन। lok Sabha Election 2019: लोकसभा चुनाव-2019 में दिल्ली की सातों सीटों (नई दिल्ली, दक्षिणी दिल्ली, पूर्वी दिल्ली, पश्चिमी दिल्ली, उत्तर पूर्वी दिल्ली, उत्तर पश्चिमी दिल्ली और चांदनी चौक) पर बुरी तरह हारी आम आदमी पार्टी (AAP) और उसके मुखिया अरविंद केजरीवाल पर विरोधियों के हमले जारी हैं। इस कड़ी में हरियाणा सिंगर और डांसर सपना चौधरी (sapna choudhary) ने भी अरविंद केजरीवाल की आलोचना की है। दरअसल, सपना चौधरी ने यह खुलासा भी किया है कि वह आखिर क्यों अरविंद केजरीवाल को नापसंद करती हैं?

निजी टेलीविजन चैनल कलर्स पर हर साल प्रसारित होने वाले रिएलिट शो बिग बॉस में शामिल होने के बाद नई पहचान के साथ अपने डांस के जरिये धूम मचाने वाली सपना चौधरी ने अरविंद केजरीवाल के बयानों के लिए उनकी आलोचना की है। 

पिछले दिनों जब सपना चौधरी से दिल्ली के मुख्यमंत्री के बारे में जब पूछा गया तो उन्होंने कहा- 'मुझे अरविंद केजरीवाल से नहीं, उनकी भाषा से परेशानी है।' सपना ने यह भी कहा कि अरविंद केजरीवाल से मुझे कोई व्यक्तिगत परेशानी नहीं है, उनकी मानसिकता से दिक्कत है। जिस तरह के शब्द उन्होंने हम कलाकारों के लिए इस्तेमाल किए, वो कहीं से जायज नहीं है।

केजरीवाल ने मनोज तिवारी को नाचने वाला कहा था
यहां पर बता दें कि दरअसल, चुनाव प्रचार के दौरान दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल उत्तर-पूर्वी दिल्ली सीट पर AAP प्रत्याशी दिलीप के पक्ष में एक चुनावी रैली को संबोधित करने के दौरान केजरीवाल ने रोड-शो में सीधे भाजपा प्रत्याशी मनोज तिवारी पर हमला बोलते हुए कहा था- 'मनोज तिवारी नाचता बहुत अच्छा है। पांडेय जी (आप प्रत्याशी) को नाचना नहीं आता, लेकिन काम करना आता है। इस बार काम करने वाले को वोट देना, नाचने वाले को वोट मत देना।” केजरीवाल ने आगे कहा कि मनोज तिवारी हर समय घूम-घूम के अपने प्रोग्राम करता रहता है, कभी यहां अपनी शक्ल नहीं दिखाई।'

भाजपा में शामिल होने पर सपना ने दिया गोलमोल जवाब
साथ ही कहा कि चुनाव प्रचार के दौरान दिल्ली के कई क्षेत्रों की मूलभूत समस्याओं और मौजूदा प्रदेश सरकार के रवैये से अवगत हुई हूं, जिसे विधानसभा चुनाव में भी आम जनता के बीच लेकर जाऊंगी।  वहीं, भाजपा में शामिल होने के सवाल पर सपना ने कहा कि अभी मैं राजनीति में पूरी तरह नहीं आना चाहती। मुझे जो भूमिका दी गई है, उसे पूरा करूंगी।

सपना ने कहा- भाजपा उनके लिए परिवार की तरह
उन्होंने कहा कि भाजपा के लिए मैं पूरे भारत में प्रचार करने से पीछे नहीं हटूंगी। भाजपा उनके लिए परिवार और राष्ट्र की तरह है। जहां उन्हें स्वतंत्र रूप से अपनी बात रखने और जनता तक पहुंचने का अवसर मिलता है। आने वाले दिनों में इस परिवार में उनकी क्या भूमिका रहेगी यह पार्टी तय करेगी। उन्होंने कहा कि कलाकार या राजनेता की किस्मत का सितारा जनता के प्यार से ही बुलंद रहता है। इस चुनाव में लोगों के बीच जाने का अवसर मिला और बहुत कुछ सीखने को मिला। 

चाय लस्सी पर सपना ने भी कही मन की बात
यहां पर बता दें कि उत्तर-पूर्वी दिल्ली से भाजपा सांसद व प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी का कहना है कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) कलाकारों या समाजसेवा के अन्य क्षेत्र से जुड़े पार्टी समर्थकों का इस्तेमाल सिर्फ चुनाव प्रचार के लिए नहीं करती है। दिल्ली नगर निगमों के चुनाव में सूफी गायक हंसराज हंस और भोजपुरी अभिनेता रवि किशन ने जमकर पसीना बहाया था। पार्टी ने उनकी काबिलियत का इस्तेमाल सिर्फ चुनाव प्रचार के लिए न करके संसद में अपने क्षेत्र की जनता की आवाज बुलंद करने का मौका दिया है। आने वाले दिनों में भी पार्टी उत्सुक कलाकारों को राजनीति के जरिये समाजसेवा का अवसर देगी। वह पिछले दिनों अपने आवास पर भाजपा प्रचारक व लोक गायिका सपना चौधरी के साथ आयोजित ‘चाय-लस्सी पर चर्चा’ कार्यक्रम में पत्रकारों से मुखातिब थे।

भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि लोकसभा चुनाव के प्रचार में दिल्ली की जनता के बीच भाजपा की आवाज बनकर पहुंचने वालीं लोक गायिका का सम्मान भी इसी कड़ी का हिस्सा है। उन्होंने कहा कि लोकसभा चुनाव के बाद अब अगला पड़ाव दिल्ली विधानसभा चुनाव है। लोकसभा चुनाव में दिल्ली की जनता ने भाजपा पर जैसा भरोसा जताया है वैसा ही समर्थन विधानसभा चुनाव में भी मिले इसके लिए तैयारी शुरू कर दी है। पार्टी का लक्ष्य विधानसभा चुनाव में साठ से ज्यादा सीटों पर कमल खिलाना है।

लोकसभा चुनाव जीतने के बाद अब भाजपा की नजर अगले वर्ष होने वाले दिल्ली विधानसभा चुनाव पर है। भाजपा नेताओं का दावा है कि दिल्ली में अगली सरकार उनकी पार्टी की बनेगी। दिल्ली प्रदेश भाजपा अध्यक्ष मनोज तिवारी ने कहा कि अर¨वद केजरीवाल नाकामपंथियों के राजा हैं। फरवरी में एक फिल्म रिलीज होगी जिसका नाम होगा 'एक था केजरीवाल'। उन्होंने कहा कि देश व लोकतंत्र के सबसे बड़े चुनाव में दिल्ली की जनता ने स्पष्ट कर दिया है कि वह नाकामपंथियों के बहकावे व झूठ-फरेब की राजनीति को दिल्ली से दूर रखेंगे। दिल्ली के लोग सिर्फ विकास पर आधारित राजनीति को स्वीकार करेंगे। उन्होंने कहा कि नाकामपंथियों ने दिल्ली के विकास को बाधित किया है। ये लोग केंद्र की जनकल्याणकारी योजनाओं को रोककर यहां के लोगों को सबसे ज्यादा नुकसान पहुंचाने की कोशिश की है।

आम आदमी पार्टी की नकारात्मक राजनीति का दिल्ली की जनता ने पहले निगम चुनाव और फिर लोकसभा चुनाव में जवाब दे दिया है। अब दिल्लीवासी इन लोगों से दिल्ली को मुक्त कराने के लिए विधानसभा चुनाव का इंतजार कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि दिल्ली के लोगों को शिक्षा, स्वास्थ्य, परिवहन व्यवस्था, प्रदूषण व जाम की समस्या से निजात चाहिए। जब नगर निगम, विधानसभा एवं केंद्र में एक ही पार्टी का शासन होगा तो इन समस्याओं का समाधान होने के साथ ही दिल्ली के विकास में तेजी आएगी।

उन्होंने कहा कि राजनीति बदलने और भ्रष्टाचार खत्म करने का वादा करके सत्ता में आने वाले खुद भ्रष्टाचार में घिर गए हैं। ये लोग अपनी नाकामी छिपाने के लिए दूसरों पर बेबुनियाद आरोप लगाते हैं। लोकसभा चुनाव में भाजपा प्रत्याशियों के खिलाफ भी इन लोगों ने दुष्प्रचार किया, लेकिन दिल्लीवासी ने इन्हें करारा जवाब दे दिया है। उन्होंने कहा कि बीते साढ़े चार वर्षो में दिल्ली की शिक्षा व्यवस्था को चौपट करके आम आदमी पार्टी ने केवल धर्म और जाति विशेष की राजनीति की है।

अल्पसंख्यकों को खुश करने के लिए हमेशा बहुसंख्यक को दरकिनार किया गया। उन्होंने कहा कि दिल्ली को जाम व प्रदूषण से मुक्त करने के लिए केंद्र सरकार के सड़क परिवहन मंत्रालय ने 46 हजार करोड़ रुपये खर्च किए हैं। राष्ट्रीय राजमार्ग 709 बी, ईस्टर्न पेरिफेरल एक्सप्रेस-वे, वेस्टर्न पेरिफेरल एक्सप्रेस-वे और धौलाकुआं फ्लाईओवर का निर्माण किया गया है।

दिल्ली-NCR  की ताजा खबरों को पढ़ने के लिए यहां पर करें क्लिक

 

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: JP Yadav

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप