नई दिल्ली, जेएनएन। मौसमी उतार-चढ़ाव के बीच दिल्ली के मौसम में अभी भी ठंडक का अहसास बना हुआ है। सोमवार को अधिकतम और न्यूनतम तापमान भी सामान्य से कम दर्ज किया गया। मौसम विभाग का अनुमान है कि पश्चिमी विक्षोभ की सक्रियता से अगले कुछ दिनों में तापमान बढ़ सकता है।

दिल्ली में ठंड का मौसम इस बार लंबा खिंच गया है। सोमवार को अधिकतम तापमान 28.5 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया जो सामान्य से दो कम है। न्यूनतम तापमान 12 डिग्री सेल्सियस रहा जो सामान्य से पांच डिग्री सेल्सियस कम है।

मौसम विभाग के मुताबिक, मंगलवार को आसमान साफ रहने की संभावना है। इसके चलते तापमान बढ़ेगा और इसके 30 डिग्री सेल्सियस तक चले जाने की संभावना है। बुधवार को कुछ हिस्सों में हल्की बूंदाबांदी होने के आसार हैं।

यहां पर बता दें कि इस बार सर्दी के लंबे समय तक होने का प्रमुख कारण गंभीर पश्चिमी विक्षोभ है। यह भूमध्य सागर से पैदा होने वाला तूफान है जिसके कारण भारतीय उपमहाद्वीप के उत्तर-पश्चिमी इलाके में बारिश और बर्फबारी होती है। स्काइमेट के निदेशक महेश पलावट ने बताया कि पश्चिमी हिमालय क्षेत्र में बड़ी तीव्रता के साथ पश्चिमी विक्षोभ होते हैं और अब तक कई बा हो चुके हैं जिनसे हिमालयी क्षेत्र में लगातार बर्फबारी और बारिश हुई है। सर्द हवा दिल्ली, उत्तर प्रदेश और उत्तर भारत के अन्य राज्यों तक पहुंचती है जिससे तापमान में गिरावट आती है। इस बार भी ऐसा ही हुआ है, जिससे सर्दी मार्च तक बरकरार है। 

ठंड की तरह नहीं जा रहा डेंगू

राजधानी दिल्ली में जिस तरह ठंड खत्म नहीं हो रही है, उसी तरह डेंगू भी खत्म नहीं हो रहा है। इस वर्ष अब तक डेंगू के तीन मामले दर्ज किए जा चुके हैं। निगम की जारी हालिया रिपोर्ट के अनुसार डेंगू का एक नया मामला इस सप्ताह दिल्ली कैंट इलाके में दर्ज किया गया है। निगम के मुताबिक इस साल जांच के दौरान 1147 घरों में अब तक मच्छरों का प्रजनन पाया गया है, इसमें निगम ने 1814 लोगों को नोटिस जारी कर दिया है। डेंगू के अलावा इस वर्ष अब तक दो मरीज चिकनगुनिया के तो एक मलेरिया का सामने आ चुका है। इसकी वजह सफाई का ध्यान नहीं देना है।

Posted By: JP Yadav

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप