नई दिल्ली, जागरण संवाददाता। ढांसा बस स्टैंड मेट्रो स्टेशन तक मेट्रो परिचालन शुरू होने के बाद स्थानीय लोगों के चेहरे पर खुशी साफ-साफ दिखाई दे रही है। साथ ही मेट्रो स्टेशन पर की गई चित्रकारी लोगों को अपनी ओर आकर्षित कर रही है। प्रकृति प्रेमियों के लिए यह चित्रकारी आकर्षण का केंद्र बनी हुई है। यहां की दीवारों पर ग्रामीण परिवेश को उकेरा गया है, जिस कारण स्थानीय लोगों के दिल के करीब यह मेट्रो स्टेशन आ चुका है। मेट्रो स्टेशन पर उतरने के बाद लोग दीवारों को निहारते हुए निकास द्वार की तरफ जाते हैं। कई लोग तो रुक कर वहां फोटो खींचने से अपने को रोक नहीं पाते हैं।


डीएमआरसी के आर्किटेक्चर विभाग ने किया है तैयार

ज्ञात हो कि मेट्रो स्टेशन की दीवारों को स्थानीय विरासत, वनस्पतियों व जीव-जंतुओं की आकर्षक कलाकृतियों तथा फोटोग्राफ से सुसज्जित किया गया है। इन कलाकृतियों को युवा कलाकारों तथा फोटोग्राफर से प्राप्त कर डीएमआरसी के आर्किटेक्चर विभाग द्वारा बड़ी कुशलता से तैयार कराया गया है। स्थानीय निवासी अमित ने बताया कि यहां आने के बाद ग्रामीण विरासत के महत्व के बारे में पता चलता है। नजफगढ़ झील के आसपास की सुंदरता को यहां पर दर्शाया गया है। हरियाली के बीच पक्षी का चित्र सबसे ज्यादा भा रहा है।

मीनाक्षी ने बताया कि स्टेशन की सुंदरता हमें सेल्फी लेने के लिए मजबूर करती है। यहां पर एक किसान का चित्र बनाया गया है। स्टेशन पर लगाए गए शीशे के पैनलों पर पिंट्र किए गए फोटोग्राफ इस क्षेत्र की समृद्ध विविधता को दर्शाते हैं। एक कलाकृति में दिखाया गया है कि कुछ निवासी अपने सामाजिक मूल्यों और आने वाली जीवनशैली के साथ कदमताल मिलाते दिख रहे हैं। मतलब यहां की एक-एक तस्वीर हमें शिक्षा दे रही है।

Edited By: Vinay Kumar Tiwari