नई दिल्ली (जागरण स्पेशल)। कभी स्वयंभू बाबाओं में शुमार रहे आसाराम और रामरहीम को कोर्ट द्वारा कड़ी सजा देने के बाद भी आस्था के नाम पर लोगों का मानसिक और शारीरिक शोषण करने वाले बाबाओं-गुरुओं का दिल्ली-एनसीआर में खेल जारी है।  इन फर्जी, ढोंगी एवं स्वयंभू बाबाओं की सूची में अब आसिफ खान उर्फ आशु गुरुजी का नाम भी शामिल हो गया है। इससे पहले शनिधाम के मुखिया दाती महाराज और दिल्ली के रोहिणी में आध्यात्मिक विश्वविद्यालय चलाने वाला तथाकथित बाबा वीरेंद्र देव दीक्षित, दोनों ही अपनी साध्वियों-शिष्याओं से दुष्कर्म के आरोप में फंस चुके हैं। हैरानी की बात है कि तीनों ही मामलों में महिलाओं के साथ दुष्कर्म की घटनाओं इन तथाकथित बाबाओं के आश्रम में ही हुईं। 

बाबा वीरेंद्र देव दीक्षितः गुप्त प्रसाद के नाम पर करता था लड़कियों से करता था गंदा काम
राम रहीम को सजा होने के बाद लगने लगा था कि फर्जी और तथाकथित कुकर्मी बाबाओं की संख्या में कमी आएगी या फिर वे महिलाओं-लड़कियों के साथ घिनौना काम बंद कर देंगे, लेकिन ऐसा नहीं हुआ। इस बीच लोग फिर सकते में आ गए, जब दिल्ली के रोहिणी में आध्यात्मिक विश्वविद्यालय चलाने वाले बाबा वीरेंद्र देव दीक्षित पर उसी की शिष्या-साध्वी ने दुष्कर्म करने का आरोप लगाया। कहा तो यहां तक जा रहा है कि बाबा सोलह हजार एक सौ आठ लड़कियों के साथ कुकर्म करना चाहता था। आश्रम के अंदर सुरंग में बने कमरे में लड़कियों को गुप्त प्रसाद देने के बहाने बाबा दुष्कर्म व अश्लील हरकतों पर उतर आता था। बहरहाल, बाबा भूमिगत है और कई महीनों से इसे तलाश कर रही है। 

दाती महाराजः भाइयों ने भी बनाया महिला को हवस का शिकार
श्रद्धा और विश्वास के नाम पर चल रहे बाबाओं के इन आश्रमों में महिलाओं से घिनौना काम भी हो सकता है, इसकी शायद किसी ने कल्पना भी नहीं की होगी। लेकिन इस कड़ी में दक्षिण दिल्ली के फतेहपुर बेरी में स्थित शनिधाम मंदिर आश्रम में भी महिला के साथ गंदा काम हुआ। 25 वर्षीय शिष्या ने अपनी शिकायत में आरोप लगाया गया था कि शनि धाम मंदिर के अंदर दाती महाराज ने दो साल पहले उसके साथ दुष्कर्म किया था और इसके बारे में किसी को भी न बताने की धमकी दी थी।

इस बाबत दक्षिणी दिल्ली के फतेहपुर बेरी थाने में पच्चीस वर्षीय युवती ने बीते 10 जून को दाती महाराज के खिलाफ शिकायत दी थी। हैरानी की बात है कि युवती ने पुलिस को यह भी बताया कि वह करीब एक दशक से महाराज की अनुयायी थी, लेकिन महाराज और चेलों द्वारा बार-बार दुष्कर्म किए जाने के बाद वह अपने घर राजस्थान लौट गई थी। फिलहाल क्राइम ब्रांच के पास, लेकिन आधा दर्जन बार पूछताछ करने वाली पुलिस उसे गिरफ्तार तक नहीं कर सकी है। ऐसे में सबके मन में यही सवाल उठ रहा है कि दाती महाराज को पुलिस क्यों नहीं गिरफ्तार कर रही है? क्या पुलिस पर किसी तरह का दबाव है?

आसिफ उर्फ आशु गुरुजीः बच्ची से यौन शोषण में घिरा, बेटे ने किया बच्ची की मां से दुष्कर्म
तथाकथित बाबाओं की सबसे घिनौनी करतूत में ताजा मामला आसिफ खान उर्फ आशु भाई गुरुजी का है। दरअसल, गाजियाबाद की महिला ने पिछले दिनों दक्षिण दिल्ली के हौजखास में रिपोर्ट दर्ज कराकर सनसनी मचा दी कि आशु ने उसकी बच्ची के साथ गंदी हरकत तो आशु के बेटे ने अपने दोस्तों के साथ उसके साथ कई बार दुष्कर्म किया। हैरानी की बात है कि एक मुसलमान होने के बावजूद आसिफ खान ने आशु भाई गुरुजी बनकर लोगों की आस्था से खिलवाड़ किया। इसका खुलासा तब हुआ जब वोटर लिस्ट देखी गई।  इसके मुताबिक, आशु भाई गुरुजी की एक तस्वीर लगी है और उसके आगे लिखा हुआ है आसिफ खान पुत्र श्री इदहा ख़ान। 

आशु 90 के दशक में दिल्ली के वजीरपुर की जेजे कॉलोनी में रहता था और कुछ ही सालों में भक्ति और आस्था का ढोंग करके 2018 आते-आते करोड़ों का मालिक बन गया। बताते हैं कि करोड़ों रुपये की तो कारें हैं इसके पास। जानकारी के मुताबिक, आशु ने सराय रोहिल्ला के पदम नगर इलाके में अपने धंधे शुरुआत की। इसके बाद आशु भाई गुरुजी बनकर दूसरों का भविष्य बताने का धंधा शुरू किया।

बताया जाता है कि धंधा तो ठीक ही चल रहा था, लेकिन जल्द ही आशु भाई गुरुजी को अपना धंधा बंद करना पड़ा, क्योंकि आशु के घर का नौकर उसके 50 लाख रुपये लेकर भाग गया था। बताया जाता है कि इस घाटे के चलते ही अपना धंधा बंद किया। फिर पदम नगर से निकलकर आशु भाई ने रोहिणी इलाके में अपना धंधा फिर से शुरू किया और फिर धंधा चल भी निकला। इस दौरान बाबा ने अब अपना बिज़नेस इतना बढ़ाया वह आयुर्वेदिक डॉक्टर भी गया था। मजे की बात है कि जहां इलाज भी खुद करता था और दवाएं भी खुद बनाता था। यानी बीमार को और भी बीमार बनाकर उसके पैसे लूटता रहता था। 

महिला ने दर्ज कराई रिपोर्ट

गाजियाबाद की रहने वाली पीड़ित महिला की तहरीर पर पॉक्सो एक्ट के तहत मामला दर्ज कर पुलिस गुरुजी की तलाश में उनके तमाम संभावित ठिकानों पर दनादन दबिश डाल रही है।

यह भी पढ़ेंः ‘मैंने वो कर दिया जो उसने कहा था’- सौ साल पहले कहे शब्द‍ आज भी हैं जिंदा

यह भी पढ़ेंः दिल्ली समेत उत्तर भारत में आने वाली बड़ी तबाही का संकेत दे रहे हैं ये भूकंप के झटके

 

Posted By: JP Yadav