नई दिल्ली, विनय तिवारी। केंद्र सरकार के तीन कृषि कानूनों के खिलाफ हरियाणा, पंजाब और यूपी के किसान बीते 9 माह से दिल्ली की सीमा पर धरना देकर प्रदर्शन कर रहे हैं। केंद्र सरकार के कृषि मंत्री नरेंद्र तोमर ने किसान संगठनों के नेताओं के साथ बैठक कर उनकी मांगों को सुना और समस्याओं के समाधान के रास्ते खोजे मगर किसान सिर्फ इन तीनों कानूनों को सिर्फ खत्म किए जाने की मांग पर अड़े हैं। ठंडी, गर्मी और बरसात के महीने बीत चुके हैं मगर किसान धरना स्थल खाली करने को तैयार नहीं है। 26 जनवरी की घटना के बाद से पूरी दुनिया में किसानों के प्रदर्शन को लेकर आलोचना हो चुकी है। कई विदेशी सिलेब्रिटीज ने भी आंदोलन को समर्थन किया और सरकार के खिलाफ बोलीं, इस दौरान ट्विटर पर एक टूलकिट भी खासी चर्चा का विषय रहा था।

भारतीय किसान यूनियन के नेता और राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत आंदोलन से किसानों को जोड़ने के लिए महापंचायत और सम्मेलन करते रहते हैं। 5 सितंबर को यूनियन की ओर से किसान महापंचायत का भी आयोजन किया गया था जिसमें काफी संख्या में किसानों ने हिस्सा लिया। महापंचायत के बाद राकेश टिकैत ने कहा था कि ये किसान आने वाले समय में सरकार को बदल कर रख देंगे। इस बीच केंद्र सरकार की ओर से किसानों के हित के लिए एमएसपी में बढ़ोतरी भी की गई, राकेश टिकैत ने उसकी भी आलोचना की। वो बढ़ाई गई एमएसपी को लेकर भी आलोचना करते रहे और ट्विटर पर लिखते रहे।

अब एक बार फिर उन्होंने केंद्र सरकार को आड़े हाथों लिया है और अपने ट्विटर हैंडल पर फिर से ट्वीट किया है। अपने ट्विटर हैंडल से ट्वीट करते हुए उन्होंने लिखा है कि आंदोलन से बदलेगी देश की व्यवस्था, सरकारी संस्थाओं को बेच रही है सरकार, क्या भाजपा के पास हर हर महादेव का पैटेंट है, हम भगवान राम के वंशज है हमारा गोत्र रघुवंशी, हरियाणा में अधिकारी ने सर फाड़ने का तालिबान आदेश दिया, देश मे भाजपा नहीं मोदी सरकार, मोदी को बदला जाएगा। एक निजी टीवी चैनल के कार्यक्रम में भाग लेने के बाद उन्होंने ये ट्वीट किया। इस ट्वीट को अब तक सैकड़ों लोग रिट्वीट कर चुके हैं और काफी संख्या में इसे पसंद भी किया गया है। इससे पहले उन्होंने एक और ट्वीट किया, उसमें लिखा कि हम स्टार नहीं बल्कि हल चलाने वाले किसान है।

भाजपा सांसद गौतम गंभीर को हाई कोर्ट से बड़ी राहत, दवाओं की जमाखोरी मामले में कार्यवाही पर रोक

ये भी पढ़ें- Delhi Nagar Nigam Politics: बीजेपी ने दिया संकेत, आने वाले दिनों में कई पार्षदों के खिलाफ हो सकती सख्त कार्रवाई

ये भी पढ़ें- दिल्ली में एक बार फिर से बढ़ने लगे कंटेनमेंट जोन, बीते दस दिनों में आठ जोन बढ़े, हो जाएं होशियार

 

Edited By: Vinay Kumar Tiwari