नई दिल्‍ली, जागरण संवाददाता। करतारपुर कॉरिडोर के खुलने के बाद जहां भारत और पाकिस्‍तान दोनों देश में एक नए संबंध की शुरुआत हो सकती है। वहीं भारत के सभी प्रमुख दलों ने सरकार के इस कदम की तारीफ की है। इस कड़ी में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरकार्यवाह भैयाजी जोशी ने इसके लिए को शुक्रिया कहा। उन्‍होंने कहा कि करतारपुर में स्थित पवित्र गुरुद्वारा श्रीदरबारसाहब जहां श्री गुरुनानकदेव जी ने जीवन के अंतिम 18 वर्ष बिताए थे और जिसका हर कदम ना केवल सिख समाज, अपितु संपूर्ण भारतीय समाज के लिए पवित्र है।

एक महत्‍वपूर्ण घटना

इसको पंजाब के डेरा बाबा नानकसाहब से जोड़ने वाले ‘करतारपुर कॉरिडोर’ का उद्घाटन एक ऐसी महत्वपूर्ण घटना है, जिसे भारत के इतिहास में स्वर्ण अक्षरों में अंकित किया जायेगा। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ उन सभी का अभिनंदन करता है, जिन्होंने इस दीर्घकाल से प्रतिक्षित स्वपन को साकार करने में महत्वपूर्ण योगदान दिया है। संघ इस पावन एवं अविस्मरणीय अवसर पर प्रसन्नतापूर्वक भागीदारी करते हुए समस्त समाज को बधाई देता है।

खराब संबंधों को मिल सकती है नई राह

बता दें कि जम्‍मू कश्‍मीर से स्‍पेशल दर्जा आर्टिकल 370 खत्‍म करने के बाद से भारत और इसके पड़ोसी देश पाकिस्‍तान के बीच रिश्‍ते ठीक नहीं चले रहे थे। इस कड़ी में लंबी जद्दोजहद के बाद एक बार फिर भारत और पाक दोनों साथ आए हैं। भारत की तरफ से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के करतारपुर कॉरिडोर के चेकपोस्‍ट का उद्घाटन किया है।

72 साल पुरानी उम्‍मीद हुई पूरी

इसके साथ ही उन्‍होंने पंजाब के पहले जत्‍थे को पाकिस्‍तान स्थित श्री करतारपुर कॉरिडोर के लिए रवाना किया गया। इस पहल से सिख श्रद्धालुओं की 72 साल पुरानी उम्‍मीद पूरी हो गई। जत्‍थे में पंजाब के मुख्‍यमंत्री कैप्‍टन अमरिंदर सिं‍ह, पूर्व प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह समेत 550 लोग भी शामिल हुए थे।


दिल्‍ली-एनसीआर की खबरों को पढ़ने के लिए यहां करें क्‍लिक

Posted By: Prateek Kumar

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप