नोएडा, जेएनएन। नोएडा मेट्रो रेल कॉरपोरेशन (एनएमआरसी) के सर्वे के अनुसार नोएडा प्राधिकरण बसों के निर्धारित रूट पर शेल्टर बनाने जा रहा है। पहले चरण में कुल 11 अप-डाउन शेल्टर बनाए जाएंगे। कई रूटों पर एक तरफ तो कई पर दोनों तरफ शेल्टर बनाए जाएंगे। कुल 179 शेल्टर बनाए जाने हैं।

इसके लिए प्राधिकरण ने कंपनियों से आवेदन मांगे हैं। कंपनी के चयन के बाद इनका निर्माण शुरू कर दिया जाएगा। पुराने शेल्टरों की मरम्मत का कार्य भी किया जाएगा। एनएमआरसी ने जो सर्वे किया उनमें से अधिकांश बसें बॉटेनिक गार्डन मेट्रो स्टेशन से चलेंगी। यहां से ग्रेटर नोएडा तक विभिन्न रूटों से होकर जाएंगी, लेकिन प्राधिकरण सिर्फ नोएडा प्राधिकरण अधिसूचित क्षेत्र में आने वाले हिस्सों में ही शेल्टर का निर्माण करेगा।

इसमें सर्वाधिक शेल्टर सेक्टर-15 से सेक्टर-62 रूट पर 35 शेल्टर बनाए जाएंगे। वहीं, बॉटेनिक गार्डन मेट्रो स्टेशन से ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण तक 25, इसी तरह सेक्टर-12, 22 से कासना रूट पर 25 शेल्टर बनाए जाएंगे। निर्माण कार्य बीओटी (बिल्ट ऑपरेट एंड ट्रांसफर) पद्धति पर किया जाएगा। यानि इसमें प्राधिकरण का खर्चा नहीं होगा।

चयनित कंपनी अपने खर्चे पर शेल्टरों का निर्माण करेगी। इसके बाद विज्ञापन के जरिए वह अपनी लागत वसूल करेगी। इसके बाद प्राधिकरण को शेल्टर हैंडओवर कर दिया जाएगा। इसमें अनुरक्षण का खास ध्यान रखा गया है। यानि कंपनी को दो साल तक अनुरक्षण कार्य भी करना होगा, ताकि इनका रखरखाव बेहतर हो सके। अक्सर देखा गया कि है कि शेल्टरों का निर्माण तो कर दिया जाता है, लेकिन अनुरक्षण के अभाव में इनका हालत खस्ता हो जाती है।

यह है बस क्यू शेल्टर की स्थिति : बस नंबर शेल्टर की संख्या 103 (+-) बॉटेनिक गार्डन मेट्रो स्टेशन से ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण 25 104(+-) सेक्टर-12/22 से कासना 25 303 (+-) बॉटेनिक गार्डन से सेक्टर-62/63 23 310 (+-) बॉटेनिक गार्डन मेट्रो स्टेशन से केपीएमजी/एडवांट 13 106 (+-) बॉटेनिक गार्डन मेट्रो स्टेशन (विपरीत) से कासना 19 313 (+-) केपटाउन सोसायटी से शशिचौक 14 एम1 (+-) सेक्टर-15 से सेक्टर-62 35 105 (+-) सेक्टर-62 से एच्चर गांव 12 311 (+-) छपरौली से बॉटेनिकल गार्डन स्टेशन 07 315 (+-) शशिचौक से गौर सिटी (+-) शशि चौक से एसीई सिटी 10

पहले चरण में कुल 11 अप-डाउन सिटी बसों के लिए शेल्टर बनाए जाएंगे। कुल 179 शेल्टर बनाए जाने है। प्राधिकरण ने इसके लिए कंपनियों से आवेदन मांगे है।
एससी मिश्र, वरिष्ठ प्रबंधक, नोएडा प्राधिकरण