फरीदाबाद [जेएनएन]। जुनैद की मां शकीरा ने कहा है कि वो अपने बेटे की हत्या के मामले में किसी भी सूरत में सामाजिक स्तर पर कोई समझौता नहीं करेंगी। वो मामले की सीबीआइ से जांच कराने की मांग पर पूरी तरह से अटल हैं। मंगलवार को पंजाब हरियाणा हाई कोर्ट में मामले की फिर सुनवाई होगी और उन्हें अवश्य न्याय मिलेगा।

सीबीआइ जांच की मांग 

गांव खंदावली के रहने वाले जुनैद की 22 जून को दिल्ली-पलवल ईएमयू शटल में सीट को लेकर हुए झगड़े में कुछ युवकों ने चाकू मारकर हत्या कर दी गई थी। इस मामले में पुलिस ने छह आरोपियों को गिरफ्तार करके जेल भेज दिया था। अदालत से पांच आरोपियों को जमानत मिल चुकी है। अब जुनैद के पिता जलालुद्दीन ने पंजाब एवं हरियाणा हाई कोर्ट से मामले की जांच सीबीआइ से कराने के लिए याचिका दायर की है।

दो करोड़ रुपये और तीन एकड़ जमीन की मांग

याचिका पर सुनवाई के दौरान सरकारी वकील ने दलील देते हुए अदालत को बताया है कि जुनैद का परिवार समझौते के लिए दो करोड़ रुपये और तीन एकड़ जमीन की मांग कर रहा है। निचली अदालत को परिवार सहयोग नहीं कर रहा है और न ही समन ले रहा है। अब पुलिस चार्ज लगाने जा रही है तो हाई कोर्ट में याचिका दायर की है और सीबीआइ से जांच कराने के लिए कह रहा है।

सरकारी वकील की दलील पूरी तरह बेबुनियाद

सरकारी वकील की इस दलील पर शुक्रवार को जुनैद की मां शकीरा ने कहा कि उन्होंने कभी भी किसी से भी ऐसी कोई पेशकश नहीं की। सरकारी वकील की ये दलील पूरी तरह से बेबुनियाद है। उन्होंने कहा कि सरकार ने 10 लाख रुपये और एक बच्चे को वक्फ बोर्ड से नौकरी दी है।

सरकारी वकील जो दो भाइयों को सरकारी नौकरी देने की बात कह रहे हैं, वह भी पूरी तरह से गलत है। वो पंजाब एवं हरियाणा हाईकोर्ट से आग्रह करती हैं कि उनके मामले की जांच सीबीआइ से कराएं, जिससे उन्हें न्याय मिल सके। 

यह भी पढ़ें: जुनैद मर्डर में हरियाणा सरकार का खुलासा, निपटारे के लिए पिता मांग रहा दो करोड़

यह भी पढ़ें: दिल्ली की कोर्ट ने दिया आदेश, मारिया शारापोवा के खिलाफ दर्ज की जाए FIR

यह भी पढ़ें: हैवानियत की हद पार, पड़ोसी ने डेढ साल की बच्ची को बनाया हवस का शिकार

By Amit Mishra