नई दिल्ली (जेएनएन)। जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) में प्रशासन और छात्रसंघ के बीच टकराव कम होने का नाम नहीं ले रहा है। जेएनयू के डीन ऑफ स्टूडेंट उमेश कदम के साथ छात्रसंघ के पदाधिकारियों द्वारा बदसुलूकी व धक्का-मुक्की करने का मामला सामने आया है। घटना सोमवार की है, लेकिन इस संबंध में उमेश कदम ने मंगलवार को वसंतकुंज उत्तरी थाने में लिखित शिकायत दी।

पुलिस का कहना है कि अभी मामले की जांच की जा रही है। छात्रसंघ पदाधिकारियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज नहीं किया गया है। उमेश कदम ने शिकायत में कहा है कि सोमवार को छात्रसंघ के पदाधिकारियों ने उनसे मिलकर किसी जरूरी मसले पर बात करने के लिए समय मागा था। उन्होंने समय दे दिया।

दोपहर में कुछ पदाधिकारी व छात्र उनसे मिलने कार्यालय में आए। बातचीत के दौरान छात्र उग्र हो गए और उनके साथ गाली-गलौच व बदसुलूकी की। निजी सुरक्षा गार्डों ने जब छात्रों को हटाने की कोशिश की तो उनके साथ भी हाथापाई की गई।

जेएनयू प्रशासन ने उक्त मामले में सीसीटीवी फुटेज भी जारी किया है, जिसमें सभी की तस्वीरें कैद हैं। प्रशासन ने मामले से संबंधित फोटो और वीडियो सोशल मीडिया पर भी अपलोड किए हैं।

वहीं छात्रसंघ ने प्रशासन के आरोप को सिरे से खारिज करते हुए कहा कि हम शातिपूर्ण तरीके से अपनी बात रखने गए थे। वहां हमारी बात नहीं सुनी गई।

गौरतलब है कि पिछले कई दिनों से जेएनयू में छात्र हॉस्टल मेस की बढ़ी हुई फीस सहित अन्य मदों में की गई बढ़ोतरी की मांग कर रहे हैं।

बाहर निकलने लगे डीन तो बंद कर दिया प्रवेश द्वार

जेएनयू प्रशासन के अनुसार सोमवार दोपहर छात्रों और डीन के बीच बातचीत हो रही थी। तभी करीब ढाई बजे 15 छात्रों का एक समूह डीन ऑफिस में घुसकर नारेबाजी करने लगा। डीन अपने ऑफिस से बाहर निकलने लगे तो छात्रों ने प्रवेश द्वार बंद कर दिया।

प्रशासन के अनुसार वह समय शिक्षकों के दोपहर के भोजन का था, फिर भी छात्रों ने डीन को बंधक बनाए रखा। कुछ देर बार सुरक्षाकर्मी की मदद से डीन को वहा से निकाला गया। जिन छात्रों ने बदसुलूकी की है प्रशासन उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई करेगा। जेएनयू प्रशासन ने छात्रों के खिलाफ पुलिस से भी शिकायत की है।

Posted By: JP Yadav