नई दिल्‍ली, एजेंसी। राजधानी के शाहीन बाग में चल रहे नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के खिलाफ धरने में असम को भारत से अलग करने का देशद्राही बयान देना जेएनयू के छात्र शरजिल इमाम के लिए भारी पड़ेगा। इस छात्र ने असम को भारत से अलग करने का बयान दिया है। इस बयान के खिलाफ लोगों में भारी गुस्‍सा है।शरजील इमाम के खिलाफ असम और अलीगढ़ में एफआईआर दर्ज की गई है। आरोपित की गिरफ्तारी के लिए टीम दिल्ली रवाना हो गई है। नागरिकता संशोधन कानून लागू होने के बाद अलीगढ़ में देशद्रोह का पहला केस दर्ज हुआ है। ज्ञात रहे कि शरजिल इमाम ही शाहीन बाग में चल रहे धरने का आयोजक है। 

विडियो में किया असम को भारत से अलग करने का दावा 

वायरल हुए विडियो में जेएनयू के छात्र शरजिल इमाम ने कहा कि हमारे पास संगठित लोग हों तो हम असम से हिंदुस्तान को हमेशा के लिए अलग कर सकते हैं। परमानेंटली नहीं तो एक-दो महीने के लिए असम को हिंदुस्तान से कट कर ही सकते हैं। रेलवे ट्रैक पर इतना मलबा डालो कि उनको एक महीना हटाने में लगेगा...जाना हो तो जाएं एयरफोर्स से। असम को काटना हमारी जिम्मेदारी है।

'असम-इंडिया कटकर अलग हो, तभी बात सुनेंगे'

विडियो में शरजिल करते हुए कहता है कि असम और इंडिया कटकर अलग हो जाए, तभी वह हमारी बात सुनेंगे। असम में मुसलमानों का क्या हाल है, आपको पता है क्या? वहां एनआरसी लागू हो गया है। मुसलमान डिटेंशन कैंप में डाले जा रहे हैं...6-8 महीनों में पता चलेगा कि सारे बंगालियों को मार दिया गया वहां।... अगर हमें असम की मदद करनी है तो हमें असम का रास्ता बंद करना होगा।' संबित पात्रा ने इस बारे में वीडियो जारी किया है।

दिशाहीन बाग और तौहीन बाग है शाहीन बाग

इस का वीडियो जारी करते हुए भाजपा प्रवक्‍ता संबित पात्रा ने कहा कि यहां असम को भारत से अलग करने की साजिश की जा रही है। शाहीन बाग में देश को टुकड़े-टुकड़े करने की साजिश हो रही है। शाहीन बाग नहीं, दिशाहीन बाग और तौहीन बाग है। यहां गैर मुस्लिमों के लिए कोई जगह नहीं है। यहां पर मीडिया पर हमला किया जा रहा है। संबित पात्रा ने कहा कि ये हिन्दुस्तान की स्वतंत्रता को तौहीन के रूप देखता है। यहां पर हिन्दुस्तान की स्वतंत्रता को खत्म करने के लिए साजिश रची जा रही है।

संबित पात्रा ने इस बारे में वीडियो जारी किया है। संबित पात्रा ने कहा कि इस वीडियो में एक शख्स कह रहा है कि इतना मवाद (मलबा) डालो पटरी पर की इंडिया की फौज असम जा ना सके। सारे गैर मुसलमानों को मुसलमानों को मुसलमानों के शर्तों पर आना ही होगा। संबित पात्रा ने कहा है कि अगर ये देश का विरोध नहीं है तो क्या है। 

असम पुलिस ने दर्ज किया मामला 

असम पुलिस के एडीजीपी लॉ एंड ऑर्डर जीपी सिंह ने बताया कि शरजिल इमाम के भाषण को लेकर उनके खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है। गुवाहाटी अपराध शाखा पुलिस स्टेशन में 153 बी और 124 ए आईपीसी के तहत मामला दर्ज किया गया है।

असम और अलीगढ़ में दर्ज किया मामला 

असम सरकार में मंत्री हेमंत बिस्म शर्मा ने कहा कि विडियो पर राज्य सरकार ने संज्ञान लिया है। भड़काऊ बयान देनेवाले छात्र पर केस दर्ज किया जाएगा। अलीगढ़ के एसएसपी आकाश कुल्हारी ने बताया कि शरजील इमाम के खिलाफ आईपीसी की धारा 124ए, 153ए, 153बी और 505 (2) के तहत एफआईआर दर्ज की जा चुकी है। अलीगढ़ के एसएसपी ने बताया कि 16 जनवरी को शरजील ने नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के खिलाफ अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी में आयोजित विरोध प्रदर्शन में हिस्सा लेते हुए देशविरोधी बातें कही थीं। भाषण के विडियो के आधार पर उसके खिलाफ केस दर्ज किया गया है। 

 

Posted By: Arun Kumar Singh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस