नई दिल्‍ली, एएनआइ। JNU Student protest: जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) में हॉस्‍टल समेत  (Hostel Fee Hike) कई चीजों में हुई फीस बढ़ोत्तरी के बाद चल रहे छात्रों के जोरदार प्रदर्शन के बाद आखिरकार वापस हो गई है। जेएनयू की एग्जीक्यूटिव कमेटी ने हॉस्टल फीस समेत अन्य बढ़ोत्तरी वापस ले ली है। इसके साथ ही आर्थिक रूप से कमजोर छात्रों की सहायता के लिए स्कीम का प्रस्ताव दिया है।

फीस बढ़ोत्तरी के बाद से हो रहा था प्रदर्शन

बता दें कि जेएनयू के अचानक हुई फीस बढ़ोत्तरी के बाद से कई छात्र लगातार प्रदर्शन कर रहे। कई गरीब तबके से आने वाले छात्र जेएनयू प्रशासन पर यह आरोप लगा रहे हैं कि प्रशासन उनके भविष्‍य के साथ खिलवाड़ कर रहा है।

बुधवार को भी कार्यकारी परिषद की बैठक में छात्र संघ के प्रतिनिधियों को नहीं बुलाए जाने से नाराज छात्रों ने प्रशासनिक भवन के सामने प्रदर्शन भी किया। फीस बढ़ोत्तरी मामले में छात्र संघ ने पहले ही प्रशासन को तल्‍ख शब्‍दों में जता दिया था कि जब तक प्रशासन हमारी बात नहीं सुनेगा तब हमारा प्रदर्शन जारी रहेगा। उनके प्रदर्शन के बाद मानव संसाधन विभाग के शिक्षा सचिव आर सुब्रमण्यम ने बताया कि जेएनयू की एग्जीक्‍यूटिव कमेटी ने हॉस्‍टल फीस समेत तमाम बढ़ोत्तरी को वापस लेने का फैसला किया है। इसके अलावा आर्थिक रूप से कमजोर छात्रों के लिए अलग से स्‍कीम लाकर उन्‍हें मदद दी जाएगी। 

बता दें कि जेएनयू प्रशासन ने रूम रेंट में भारी बढ़ोत्तरी का एलान किया था। पहले सिंगल सीटर हॉस्टल का रूम रेंट 20 रुपये देना होता था वहीं, इसे बढ़ा कर 600 रुपये कर दिया गया था। डबल सीटर का किराया पहले 10 रुपये था जिसे बढ़ा कर 300 रुपये कर दिया गया था। छात्र इसे पहले की अपेक्षा काफी ज्यादा बता कर सड़क पर उतर गए थे।

सुप्रीम कोर्ट ने सुनवाई में किया जापानी तकनीक का जिक्र, अब खत्‍म होगा जानलेवा प्रदूषण

दिल्‍ली-एनसीआर की खबरों को पढ़ने के लिए यहां करें क्‍लिक

Posted By: Prateek Kumar

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप