नई दिल्ली [गौतम मिश्रा]। इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट पर एक यात्री को गिरफ्तार किया गया है। आरोप है कि यह शख्स फर्जी पहचान पत्र पर दिल्ली से लेह जाने की कोशिश कर रहा था। आरोपित की पहचान झारखंड के दुमका निवासी मो. शाकिर अंसारी के रूप में हुई है। पुलिस ने आरोपित के खिलाफ मामला दर्ज कर उससे पूछताछ शुरू कर दी है। स्पेशल सेल व अन्य सुरक्षा एजेंसी भी पूछताछ करने में लगी है।

पुलिस अधिकारियों ने बताया कि दो अप्रैल को इंडिगो एयरलाइन की फ्लाइट दिल्ली से लेह गयी थी। पर मौसम खराब होने के कारण विमान बिना लैंड हुए ही दिल्ली वापस लौट आयी। इसके बाद सभी यात्री को एयरलाइन की ओर से 8 अप्रैल तक किराया लौटाने की बात कही गई थी। इस दौरान यात्रियों में एक मजदूरों का समूह भी था, जिसे वहां सड़क निर्माण के लिए एक ठेकेदार शमीम ले जा रहा था।

उसने सभी के लिए अगले फ्लाइट में फिर से टिकट बुक की। पर इस दौरान आरोपित ने अपने नाम के बजाय रमेश राय नाम से टिकट बुक कराया। रमेश उसी समूह का सदस्य था पर वह दिल्ली लौटने पर वापस अपने गांव लौट गया था। वह सफर के दौरान आरोपित के साथ था, इसी दौरान उसने उसके आधार कार्ड की फ़ोटो ले ली थी और इसपर अपनी फोटो लगा ली। सुरक्षा जांच के दौरान उसकी इस जालसाजी की पोल खुल गयी।

बच्चे की हत्या में दंपती को उम्रकैद

इधर, गाजियाबाद के लोनी थानाक्षेत्र में चार वर्षीय मासूम की अपहरण के बाद हत्या करने के मामले में फास्ट ट्रैक कोर्ट-1 के न्यायाधीश जयवीर सिंह नागर ने दोषी पति-पत्नी को उम्रकैद की सजा सुनाई। दोनों ने भीख मंगवाने व बेचने के उद्देश्य से मासूम का अपहरण किया था। अदालत ने दोनों पर 54 हजार रुपये जुर्माना भी लगाया। सहायक जिला शासकीय अधिवक्ता आदेश त्यागी व ममता गौतम ने बताया कि लोनी थानाक्षेत्र में गिरी मार्केट के पास रहने वाले प्रदीप मिश्र का चार वर्षीय बेटा सौरभ 29 सितंबर 2017 की सुबह आठ बजे घर के बाहर से रहस्यमय हालात में गायब हो गया था। काफी तलाशने के बाद भी उसका कोई सुराग नहीं मिला तो स्वजन ने एफआइआर दर्ज कराई थी।

सौरभ की तलाश में जुटी पुलिस ने छापेमारी शुरू की तो सरफराज व उसकी पत्नी सलमा घबरा गए। दोनों ने गला दबाकर सौरभ की हत्या कर दी थी। चार अक्टूबर 2017 को उसका शव इनके घर से बरामद हुआ था। पुलिस ने सरफराज व सलमा को गिरफ्तार किया तो पूछताछ में उन्होंने बताया कि तस्कीन, नाजरा, सोनू व सरताज के साथ मिलकर उन्होंने सौरभ का अपहरण कर हत्या को अंजाम दिया था। वह भीख मंगवाने व बेचने के लिए नाबालिग बच्चों का अपहरण करते थे। इसी उद्देश्य से उन्होंने सौरभ का अपहरण किया था, लेकिन उससे पहले ही पुलिस छापेमारी में जुट गई थी।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021