नई दिल्ली, जेएनएन। नरेला इलाके में एक निर्माणाधीन मकान के सेप्टिक टैंक में गिरने से तीन वर्षीय मासूम की मौत हो गई। मृतक की पहचान ध्रुव के रूप में हुई है। सूचना के बाद पुलिस ने मकान मालिक के खिलाफ लापरवाही से मौत की धाराओं में मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम कराने के बाद परिजनों को सौंप दिया है।

खेलते-खेलते सेप्टिक टैंक में गिरा मासूम 
जानकारी के मुताबिक, ध्रुव पिता शंकर भगत, मां और छोटी बहन के साथ नरेला के संजय कॉलोनी में रहता था। शंकर मजदूरी करते हैं। शुक्रवार की सुबह भैया दूज मनाने के लिए शंकर भगत की पत्नी दोनों बच्चों को तैयार कर रहीं थीं। ध्रुव को तैयार करने के बाद वह बेटी को नहला रहीं थीं। इसी दौरान ध्रुव खेलते-खेलते घर के पास स्थित एक निर्माणाधीन मकान के पास पहुंच गया। इस मकान के एक हिस्से में करीब आठ फीट गहरे सेप्टिक टैंक का निर्माण कराया गया था जो कि खुला हुआ था, ध्रुव उसी में गिर गया।

डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया
कुछ देर बाद जब वह मां को नहीं मिला तो उन्होंने खोजना शुरू किया। परिजन खोजते-खोजते निर्माणाधीन मकान के पास पहुंचे तो ध्रुव को सेप्टिक टैंक में पानी के ऊपर उफनाता हुआ पाया। उसे बाहर निकालकर अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया। इस घटना के बाद मकान का निर्माण करा रहा ठेकेदार और मकान मालिक दोनों फरार हो गए। पुलिस की प्रारंभिक जांच में पता चला है कि सेप्टिक टैंक को कवर नहीं किए जाने के कारण यह हादसा हुआ। पुलिस मकान मालिक की तलाश में छापेमारी कर रही है।