नई दिल्ली [जेएनएन]। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के वरिष्ठ प्रचारक इंद्रेश कुमार ने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने विश्व में भारत का कद बढ़ाने का काम किया। पोखरण परमाणु परीक्षण एक ऐतिहासिक निर्णय था, जिससे पूरा विश्व चकित था। वह एनडीएमसी कन्वेंशन सेंटर में मुस्लिम राष्ट्रीय मंच (एमआरएम) द्वारा अटल जी को श्रद्धांजलि देने के लिए आयोजित कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे।

हिंदू-मुसलमान देश की तरक्की में बराबर के हिस्सेदार

इंद्रेश कुमार ने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री ने पूरा जीवन गंगा-यमुना तहजीब को दिया। उन्होंने पाकिस्तान की तरफ दोस्ती का हाथ बढ़ाकर सराहनीय कार्य किया। उन्होंने कहा कि हिंदू-मुसलमान इस देश की तरक्की में बराबर के हिस्सेदार है।

...तो इस वजह से विराम लेते थे अटल जी 

कार्यक्रम में उत्तराखंड के कैबिनेट मंत्री सतपाल महाराज ने कहा कि अटल को सच्ची श्रद्धांजलि तभी होगी जब हम उनके बताए रास्ते और विचार को अपने जीवन में उतार लें। अभिनेता गजेंद्र चौहान ने स्मरण करते हुए कहा कि अटल जी अपने भाषण के दौरान विराम लेते थे। किसी ने इसका कारण पूछा तो उन्होंने हाजिर जवाब देते हुए कहा था कि इसलिए रुकता हूं ताकि जो मैंने पहले कहा वह आपकी समझ में आ जाए।

भारत रत्न नहीं अनमोल रत्न हैं अटल 

मुस्लिम राष्ट्रीय मंच दिल्ली के अध्यक्ष हाफिज मो. साबरीन ने कहा कि अटल केवल भारत रत्न नहीं बल्कि अनमोल रत्न हैं। कार्यक्रम का आगाज तिलावते कलाम पाक से हुआ। इस मौके पर दो मिनट का मौन रखा गया और दुआ मांगी गई। वक्ताओं ने अटल जी की कविताएं सुनाकर भी उन्हें श्रद्धांजलि दी।

कार्यक्रम में प्रो. अकील के अलावा राष्ट्रपति पुरस्कार विजेता डॉ. इमरान चौधरी, एमआरएम के राष्ट्रीय संगठन मंत्री गिरीश जुयाल, राष्ट्रीय अध्यक्ष अफजाल अहमद के अलावा पदाधिकारी डॉ. शाहिद अख्तर व खुर्शीद राजका समेत अन्य उपस्थित रहे।