नई दिल्ली, जागरण संवाददाता। ऑस्ट्रेलिया भारतीय हवाई यात्रियों की पहली पसंद बनता जा रहा है। आइजीआइ एयरपोर्ट से ही प्रतिवर्ष करीब आठ लाख यात्री ऑस्ट्रेलिया के लिए उड़ान भर रहे हैं। वहां जाने वाले यात्रियों की वार्षिक वृद्धि दर 16 फीसद तक पहुंच गई है। एयरपोर्ट अधिकारियों के मुताबिक ऑस्ट्रेलिया के करीब नौ शहर ऐसे हैं जहां जाने वाले भारतीय यात्रियों की संख्या में प्रतिवर्ष इजाफा हो रहा है। जाने वालों का मुख्य उद्देश्य वहां रह रहे अपने रिश्तेदारों से मिलना होता है। वहीं, पढ़ाई और पर्यटन भी इसके प्रमुख कारण हैं।

इंटनेशनल एयर ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन (आइएटीए) के आंकड़ों के मुताबिक, गत वित्तीय वर्ष में भारत से 19 लाख लोगों ने ऑस्ट्रेलिया का रुख किया। इनमें अकेले आइजीआइ एयरपोर्ट से जाने वाले यात्रियों की भागीदारी 41 फीसद रही। मुंबई, बेंगलुरु, चेन्नई और कोलकाता एयरपोर्ट से क्रमश: 16, 8, 7 और 3 फीसद यात्री ऑस्ट्रेलिया गए।

इन शहरों में सबसे ज्यादा जाते हैं भारतीय

दिल्ली इंटरनेशनल एयरपोर्ट लिमिटेड (डायल) के मुताबिक, भारतीय यात्रियों की पहली पसंद ऑस्ट्रेलिया का मेलबॉर्न शहर है। यहां 33 फीसद यात्री जाते हैं। इसके बाद 25 फीसद भारतीय सिडनी का रुख करते हैं। वहीं 10 फीसद ब्रिसबेन, 6 फीसद पर्थ और पांच फीसद एडिलेड जाते हैं। डायल के सीइओ विदेह कुमार जयपुरियार ने बताया कि भविष्य में भी इस मार्ग में अपार संभावनाएं हैं। आने वाले समय में यहां से कई हवाई सेवाएं शुरू हो सकती हैं। आइजीआइ एयरपोर्ट से ऑस्ट्रेलिया के प्रमुख शहरों के लिए सीधी उड़ानें उपलब्ध हैं।

छह लाख भारतीय करते हैं निवास

एयर इंडिया मेलबर्न और सिडनी के लिए नॉन-स्टॉप हवाई सेवा का संचालन करती है। वहीं, ऑस्ट्रेलियन ब्यूरो ऑफ स्टैटिक्स की रिपोर्ट के अनुसार, वर्तमान में वहां करीब छह लाख भारतीय निवास करते हैं। करीब एक लाख भारतीय छात्र शिक्षा ग्रहण कर रहे हैं। पढ़ाई और करियर के अच्छे साधन होने के कारण भारतीय छात्र ऑस्ट्रेलिया जाना पसंद करते हैं।

दिल्ली-एनसीआर की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां पर करें क्लिक 

कनॉट प्लेस में दिवाली कार्यक्रम का व्यापारियों ने किया विरोध, दुकानदार कर सकते हैं बहिष्कार

दिल्ली की सड़कों को किया जाएगा री-डिजाइन, चुनाव से पहले सीएम केजरीवाल का बड़ा एलान

 

Posted By: Mangal Yadav

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप