नई दिल्ली (जेएनएन)। पिछले दिनों पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आइएसआइ के लिए जासूसी करने व उसको गोपनीय दस्तावेज मुहैया कराने के आरोप में गिरफ्तार एयरफोर्स के ग्रुप कैप्टन अरुण मारवाह (51) को लेकर नई-नई बातें सामने आ रही हैं। जांच और पूछताछ में पता चला है कि कैप्टन के ओहदे पर तैनात अरुण मारवाह ने कई गोपनीय जानकारियां अपने मोबाइल फोन से व्हारट्सएप के जरिए पाक खुफिया एजेंसी ISI को लीक कर दी हैं।

इसलिए चिंतित हैं सुरक्षा एजेंसियां

खुफिया एजेंसियों की चिंता इसलिए भी बढ़ गई है कि ये सारी सूचनाएं अरुण मारवाह ने दुश्मचन देश पाकिस्तािनी खुफिया एजेंसी ISI को दी हैं। यह भी जानकारी सामने आई है कि एयरफोर्स मुख्यांलय में तैनात अरुण मारवाह अपने स्मार्टफोन फोन की मदद से महत्वपूर्ण दस्ता वेजों की तस्वी रें खींच कर उसे व्हा ट्सएप के जरिये पाकिस्तानी जासूस को भेजता था।

चैटिंग की लत में खो बैठा होश

जांच में यह बात सामने आई है कि अरुण मारवाह पिछले साल दिसंबर में फेसबुक अकाउंट किरन रंधावा और महिमा पटेल के संपर्क में आया था। फेसबुक पर परिचय देने के दौरान दोनों ने अपने को मॉडल बताया था। खूबसूरती के भ्रम और दिलकश आवाज के जादू ने अरुण मारवाह पर अपना काम कर दिया।

जल्द ही शुरू हो गया अश्लील बातों का सिलसिला

चैटिंग के दौरान अश्लील बातें करने का सिलसिला तेज हो गया। उधर से चैटिंग के एवज में तथाकथित खूबसूरत महिलाओं ने अरुण को कुछ इस तरह ब्लैकमेल करना शुरू कर दिया कि वह 'और ज्यांदा' पाने के चक्कर में देश से गद्दारी तक करने को तैयार हो गया। वह एयरफोर्स हेडक्वाचर्टर से गोपनीय दस्ताकवेजों की अपने स्मागर्टफोन से तस्वीयरें उतार कर उन्हें भेजने लगा।

तथाकथित युवती को सिम कार्ड उपलब्ध करवाया

जांच में यह भी पता चला है कि जब एक युवती किरण ने अपनी उम्र 20 साल बताई और साथ ही कहा कि वह मॉडल है तो अरुण मारवाह उसकी निजी अंतरंग वीडियो और तस्वीरें देखने के लिए लालायित हो उठे। उसने न सिर्फ युवती को सिम कार्ड उपलब्ध करवाया, बल्कि उसके लिए वह सब करने को तैयार हो गया जिसे देश से गद्दारी कहते हैं।

गौरतलब है कि आठ फरवरी को दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने एयरफोर्स के ग्रुप कैप्टन अरुण मारवाह (51) को दिल्ली से गिरफ्तार किया था। सूत्रों के अनुसार कुछ माह पहले आइएसआइ के एक एजेंट ने लड़की बनकर मारवाह से संपर्क किया था।

इसके बाद दोनों में फोन पर लगातार चैटिंग होने लगी। दोनों एक दूसरे को अश्लील मैसेज भेजते थे। लड़की के रूप में पूरी तरह अपने जाल में फंसाने के बाद आइएसआइ एजेंट ने उनसे कई गोपनीय दस्तावेज की मांग की। आरोप है कि उन्होंने कुछ गोपनीय दस्तावेज उसे मुहैया करा दिए।

कुछ हफ्ते पहले एयरफोर्स के वरिष्ठ अधिकारी को जब इसकी जानकारी मिली तो उन्होंने आंतरिक जांच बैठा दी। जांच में मारवाह की जासूसी में संलिप्तता पाए जाने पर एयरफोर्स के वरिष्ठ अधिकारी ने दिल्ली पुलिस आयुक्त अमूल्य पटनायक से इसकी शिकायत की।

पटनायक ने मामले की गंभीरता को देखते हुए स्पेशल सेल को इसकी जांच सौंप दी। स्पेशल सेल ने बृहस्पतिवार सुबह मुकदमा दर्ज कर मारवाह को गिरफ्तार कर लिया।

साथ ही दोपहर बाद पटियाला हाउस कोर्ट स्थित मुख्य महानगर दंडाधिकारी दीपक सहरावत की अदालत में पेश कर उन्हें पांच दिन की रिमांड पर ले लिया है।

स्पेशल सेल ने आरोपी का मोबाइल जब्त कर लिया है। स्पेशल सेल उनसे पूछताछ कर लड़की बनकर भेंट करने वाले आइएसआइ एजेंट व कौन-कौन से गोपनीय दस्तावेज उसे मुहैया कराए गए हैं, इस बारे में पता लगा रही है।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप