नई दिल्ली [संतोष शर्मा]। Independence Day 2020: कोरोना काल में दिल्ली पुलिस ने सुरक्षा के साथ ही बेसहारा लोगों को खाना उपलब्ध कराने सहित वायरस से बचाव के लिए जनता के बीच मास्क इत्यादि बांटे थे। इन कामों में कई पुलिसकर्मी रात-दिन जुटे थे। राष्ट्रपति ने कोरोना काल में उल्लेखनीय कार्य करने वाले दिल्ली पुलिस के तीन कोरोना योद्धा को सम्मान दिया है।

एसआइ सुनीता मान, हेड कांस्टेबल मनीष कुमार और जितेंद्र को शनिवार को राष्ट्रपति भवन में आयोजित एट होम समारोह में आमंत्रित किया गया है। इस उपलब्धि पर पुलिस कर्मी खासे प्रसन्न हैं। पुलिस के वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि दिल्ली पुलिस के लिए यह सम्मान की बात है। उन्होंने बताया कि मैदानगढ़ी थाने में तैनात सब इंस्पेक्टर सुनीता मान ने कोरोना काल में 24 घंटे काम किया। उन्होंने पेशेवर तरीके से बातचीत कर लोगों में बीमारी के प्रति जागरूकता पैदा की।

जरूरतमंद लोगों की हेड कांस्टेबल मनीष कुमार ने की मदद

वहीं, द्वारका जिले में तैनात हेड कांस्टेबल मनीष कुमार ने जरूरतमंद लोगों के लिए सामुदायिक रसोई चलाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी। डीसीपी द्वारका कार्यालय परिसर में चल रही रसोइ में रोजाना करीब 800 जरूरतमंद के लिए भोजन उपलब्ध कराया जाता था। प्रधानमंत्री ने अपने मन की बात के दौरान भी इस सामुदायिक रसोई के बारे में भी बता चुके हैं। मनीष ने एक टीम लीडर के रूप में काम किया था। उन्होंने जरूरतमंद लोगों के लिए 800 क्विंटल राशन के वितरण और व्यवस्था में भी खासा योगदान दिया था।

कंझावला में तैनात हेड कांस्टेबल जितेन्द्र ने भी लॉकडाउन शुरू होने पर प्रवासियों के बीच भोजन के पैकेट वितरण में असाधारण कर्तव्यों का पालन किया था। यही नहीं उन्होंने विपरीत परिस्थितियों में फंसे छात्रों व पर्यटकों के बचाव के लिए अथक प्रयास किया था। वहीं वह अपने पास से कोरोना से बचाव के लिए जरूरतमंद लोगों को फेस मास्क, हैंड सैनिटाइजर व साबुन इत्यादि बांटे थे।

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप