रेवाड़ी [जागरण संवाददाता]। शहर के मोहल्ला रामसरोवर स्थित एक ज्वेलर्स में उसके मालिक पर चाकू से हमला करके 4 लाख रुपये का सोना लूटने वाले आरोपितों को पुलिस ने पकड़ लिया है। वारदात को चार आरोपितों ने अंजाम दिया था। पकड़े गए चारों ही आरोपित नाबालिग हैं। इनमें से दो आरोपित जहां रामपुरा थाना क्षेत्र के एक मोहल्ले के रहने वाले हैं, वहीं दो आरोपित गुरुग्राम के रहने वाले हैं। ये सभी वारदात को अंजाम देने के लिए ही रेवाड़ी आए थे। सीआइए द्वारा महज 12 घंटे में ही इस वारदात को सुलझा लेने पर एसपी ने टीम की पीठ भी थपथपाई है। 

रैकी करके दिया वारदात को अंजाम

जिंदल ज्वेलर्स के मालिक शैलेंद्र जिंदल शनिवार शाम को अपनी दुकान पर ही बैठे हुए थे। इसी दौरान चार युवक उनकी दुकान पर पहुंचे थे तथा उनके गाल व गले पर चाकू से वार करके 10 तोला सोना व अन्य सामान लूटकर ले गए थे। इस वारदात के बाद बाजार में सनसनी फैल गई थी तथा व्यापारियों ने भी रोष प्रकट किया था। सीआइए ने बाजार के सीसीटीवी खंगाले तथा सीसीटीवी फुटेज से ही टीम को बदमाशों के बारे में सुराग मिला।

टीम ने पकड़ा चारों बदमाशों को

सीआइए इंचार्ज विधासागर ने टीम का गठन किया तथा वारदात में शामिल चारों आरोपितों को पकड़ लिया। पकड़े गए चारों आरोपितों से पूछताछ के दौरान सामने आया है कि लूटपाट करने से पहले उन लोगों ने रैकी की थी। वे लोग पहले एक चांदी की अंगूठी लेने के लिए दुकान पर गए थे। अंगूठी खरीदने के बहाने उन्होंने दुकान पर रखा सारा सामान देखा। 15-20 मिनट के बाद वे दोबारा दुकान पर आए तथा वारदात को अंजाम दे डाला।

गैस लाइटर को पिस्‍टल बता कर की लूट

डीएसपी मोहम्मद जमाल ने बताया कि आरोपितों ने फायरिंग नहीं की क्योंकि उनके पास पिस्टल नहीं थी। डराने के लिए वे लोग पिस्टलनुमा गैस लाइटर लेकर आए थे। ज्वेलर्स की दुकान का शीशा गोली से नहीं टूटा बल्कि बदमाशों द्वारा हमला करने पर स्वर्णकार शैलेंद्र जिंदल ने ही लोहे की रॉड फेंककर शीशे पर मारी थी ताकि आसपास के दुकानदार शोर सुनकर उन्हें बचा लें। शीशा टूटने की आवाज सुनकर आसपास के दुकानदार जब एकत्रित हुए थे तो बदमाशों ने नकली पिस्टल दिखाकर ही उन्हें डराया था।

बाइक चोरी भी कर चुके आरोपित

पकड़े गए चारों आरोपित नाबालिग हैं तथा आपस में दोस्त है। पुलिस ने आरोपितों से लूटा गया 10 तोला सोना, तीन चाकू बरामद कर लिए हैं। आरोपित पहले भी वारदात कर चुके हैं तथा प्रारंभिक पूछताछ में उन्होंने मॉडल टाउन से मोटरसाइकिल चोरी करने की वारदात को भी स्वीकार किया है।

सीआइए टीम की थपथपाई एसपी ने पीठ

पुलिस अधीक्षक नाजनीन भसीन ने रातभर के अंदर ही सभी आरोपितों को पकडऩे के लिए सीआइए इंचार्ज विधासागर, एसआइ बिरेंद्र, एसआइ नरेश कुमार, एएसआइ रजनीश, एचसी अरुण कुमार, योगेश, रविंद्र कुमार, संदीप कुमार, सिपाही अंकित, जितेंद्र, हरदीप व विकास की पीठ थपथपाई है।

चारों आरोपित नाबालिग है तथा उनसे पूछताछ की जा रही है। कुछ अन्य वारदात का भी उनसे पूछताछ के दौरान पता चल सकता है। आरोपितों ने लूटपाट से पहले रैकी की थी। जुवेनाइल कोर्ट में चारों आरोपितों को पेश किया जाएगा।

-मोहम्मद जमाल, डीएसपी

Posted By: Prateek Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस