नई दिल्ली, जेएनएन। दुनिया की सबसे उम्रदराज महिला निशानेबाज दादी चंद्रो तोमर (87) सीने में संक्रमण व पेट की बीमारी के कारण तीन दिन से एम्स के आइसीयू में भर्ती हैं। जेरियाट्रिक विभाग के सहायक प्रोफेसर डॉ. विजय गुर्जर उनका उपचार कर रहे हैं। एम्स प्रशासन के अनुसार उनके स्वास्थ्य में अब सुधार और उन्हें प्राइवेट वार्ड में स्थानांतरित करने की तैयारी चल रही है। वह उत्तर प्रदेश के बागपत के जौहड़ी गांव की रहने वाली हैं। उनके बेटे विनोद कुमार का कहना है कि फिलहाल डॉक्टरों ने कई जांच कराई है, जल्द ही इनकी रिपोर्ट मिल जाएगी। जैसे ही शूटर दादी के एम्स में भर्ती होने की जानकारी परिवार और करीबियों को मिली तो जौहड़ी स्थित घर पर हाल जानने के लिए पहुंच गए।

चंद्रो तोमर ने 66 साल की अवस्था में निशानेबाजी शुरू की थी और वह दुनिया की सबसे उम्रदराज निशानेबाज हैं। उनकी संघर्ष गाथा पर निर्माता निर्देशक अनुराग कश्यप ‘सांड की आंख’ नामक फिल्म बना रहे हैं। उनके रिश्तेदार सुमित राठी ने बताया कि दादी की तबीयत 28 अप्रैल से खराब है। उन्हें पहले गंगाराम अस्पताल में भर्ती कराया गया था। वहां छह से सात दिन तक भर्ती रखने के बाद डॉक्टरों ने अस्पताल से छुट्टी दे दी थी।

बुधवार को उन्हें बार-बार उल्टी होने पर उन्हें एम्स में भर्ती कराने की जरूरत पड़ी। एम्स में डॉक्टरों ने उनकी कई जांचें व सीटी स्कैन कराई है। इसमें पता चला कि उन्हें फेफड़े में संक्रमण है। एम्स के अनुसार वह हल्का खाने लगी हैं और बातचीत भी कर रही हैं। उन्हें सोडियम की भी कमी हो गई थी। इसके लिए भी दवा दी जा रही है। उम्मीद है कि वह जल्द स्वस्थ हो जाएंगी।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: JP Yadav

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप