नई दिल्ली, जागरण संवादादाता। IIT flyover Delhi: आउटर रिंग रोड पर आइआइटी फ्लाईओवर के पास जल्द लोगों को यहां लगने वाले जाम व सड़क हादसों से निजात मिल जाएगी। लॉकडाउन के दौरान दो माह से ज्यादा समय काम बंद रहने के बाद अब तेजी से फुट ओवरब्रिज का निर्माण शुरू हो गया है। स्थानीय विधायक व लोक निर्माण विभाग (पीडब्ल्यूडी) के अधिकारियों ने बताया कि दो माह में निर्माण कार्य पूरा कर फुटओवर ब्रिज शुरू करा दिया जाएगा। इससे न केवल दिल्ली वालों को,बल्कि एनसीआर के भी हजारों यात्रियों का रोजाना फायदा होगा, उनका सफर आसान हो जाएगा।

क्या थी समस्या

अधिकारियों के मुताबिक, आउटर रिंग रोड पर आइआइटी के पास एफओबी न होने के कारण लोगों को सड़क पार करने में काफी दिक्कत होती है। मार्ग के एक तरफ राष्ट्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण संस्थान है तो दूसरी तरफ रिहायशी कॉलोनी है। इस कारण यहां पर बड़ी संख्या में लोगों को एक तरफ से दूसरी ओर जाना पड़ता है, लेकिन फुट ओवरब्रिज न होने के कारण यहां सड़क पार करने के लिए लोगों को डिवाइडर कूदकर जाना पड़ता है। डिवाइडर कूदने के दौरान दोनों ओर से आने वाला यातायात प्रभावित होता है, जिससे काफी पीछे तक जाम लग जाता है।

हादसों पर लगेगी लगाम

अधिकारियों ने यह भी बताया कि तेज रफ्तार वाहनों के कारण हादसे का खतरा भी बना रहता है। आरके पुरम के विधायक ने बताया कि फुटओवर ब्रिज के दोनों तरफ लिफ्ट लगाई जाएगी, ताकि बुजुर्ग, बच्चे, महिलाएं व अन्य लोग लिफ्ट के जरिये आसानी से सड़क पार कर सकें।

वहीं, इस पूरे मसले पर प्रमिला टोकस  (आम आदमी पार्टी विधायक, आरके पुरम) का कहना है कि हादसे व जाम की समस्या से निजात दिलाने के लिए आइआइटी के पास फुट ओवरब्रिज का निर्माण कराया जा रहा है। लॉकडाउन में कुछ समय काम बंद रहा, लेकिन अब फिर से काम शुरू हो गया है। दो माह में क्षेत्रवासियों के लिए यह फुट ओवरब्रिज शुरू करा दिया जाएगा। 

Posted By: JP Yadav

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस