नई दिल्ली [राहुल मानव]। भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (आइआइटी) में पढ़ने का सपना सभी लेते हैं, लेकिन हर कोई जेईई मेंस के बाद जेईई एडवांस्ड परीक्षा में उत्तीर्ण होकर आइआइटी में दाखिला नहीं ले पाता है। लेकिन, अब इस सपने को आइआइटी दिल्ली की तरफ से साकार किया जा रहा है। आइआइटी दिल्ली अगले दो से तीन महीने के अंदर छह महीने के ऑनलाइन सर्टिफिकेट पाठ्यक्रम को शुरू करने जा रहा है।

ऑनलाइन सर्टिफिकेट पाठ्यकमों को किया जाएगा शुरू

आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (एआइ), डेटा स्ट्रक्टचर, मशीनरी लर्निंग जैसे छह महीने के ऑनलाइन सर्टिफिकेट पाठ्यक्रमों को शुरू किया जाएगा। दिलचस्प बात ये होगी कि आइआइटी दिल्ली के इन पाठ्यक्रमों को पढ़ने के लिए किसी भी तरह की प्रवेश परीक्षा नहीं देनी होगी।

पिछले हफ्ते मिली थी मंजूरी

इस बारे में आइआइटी दिल्ली के निदेशक प्रो वी.रामगोपाल राव ने जानकारी देते हुए बताया कि पिछले हफ्ते संस्थान के अकादमिक मामलों पर फैसले लेने वाली सर्वोच्च बॉडी-सेनेट की बैठक में छह महीने के लिए ऑनलाइन सर्टिफिकेट पाठ्यक्रमों को शुरू करने की मंजूरी दे दी गई है। अब जुलाई में आने वाले दिनों में संस्थान की बोर्ड की बैठक में इसे प्रस्तुत किया जाएगा।

दो से तीन महीने में होगा लाॅन्च

इसके बाद इसे दो से तीन महीने में लॉन्च कर दिया जाएगा। पाठ्यक्रमों में दाखिले के मानदंडों को तय करने के बाद इन्हें लॉन्च के समय बताया जाएगा। इसमें से कुछ ऐसे भी पाठ्यक्रम होंगे, जिसे सीधे 12वीं करने के बाद पढ़ा जा सकेगा। यह सिर्फ आइआइटी के छात्रों के लिए नहीं होंगे। जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) , दिल्ली विश्वविद्यालय (डीयू) , जामिया मिल्लिया इस्लामिया (जेएमआइ) जैसे शिक्षण संस्थान के छात्र भी इसे ऑनलाइन पढ़ सकेंगे। इसके साथ ही अंतरराष्ट्रीय छात्र भी पढ़ सकेंगे।

कंपनियों से की साझेदारी

इन पाठ्यक्रमों को शुरू करने के लिए शिक्षा के क्षेत्र में काम कर रही सात कंपनियों के साथ संस्थान ने साझेदारी की है। यह कंपनियां ऑनलाइन माध्यम से पाठ्यक्रम से जुड़ी सेवाएं छात्रों को देंगी। पाठ्यक्रम की पढ़ाई पूरी होने के बाद आइआइटी दिल्ली का प्रमाणित सर्टिफिकेट छात्रों को मिलेगा।

क्यों शुरू किया जा रहा पाठ्यक्रम

प्रो वी.रामगोपाल राव ने बताया कि हम चाहते हैं कि आइआइटी दिल्ली की गुणवत्ता पूर्ण शिक्षा सभी तक पहुंचे। बहुत कम लोगों तक आइआइटी की यह शिक्षा पहुंच पाती है। इस तरह के ऑनलाइन पाठ्यक्रमों को शुरू करने से अच्छी एवं गुणवत्ता पूर्ण शिक्षा को छात्रों तक ऑनलाइन माध्यम से पहुंचाने का कार्य करेंगे। 5 हजार से 10 हजार छात्र भी इन पाठ्यक्रमों से जुड़ते हैं तो यह उनके लिए लाभकारी होगा। हम जिस तरह से सर्टिफिकेट के जरिये ऑनलाइन पाठ्यक्रम शुरू कर रहे हैं। ठीक इसी तरह से आइआइटी मद्रास भी अपनी गुणवत्ता पूर्ण शिक्षा को छात्रों तक पहुंचाने के लिए ऑनलाइन स्नातक पाठ्यक्रम शुरू कर रहा है।

दिल्‍ली-एनसीआर की खबरों को पढ़ने के लिए यहां करें क्‍लिक

Posted By: Prateek Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस