नई दिल्ली [संजीव कुमार मिश्र]। दिल्ली विश्वविद्यालय (डीयू) के स्नातक पाठ्यक्रमों में दाखिले संयुक्त विश्वविद्यालय प्रवेश परीक्षा (सीयूईटी) से होंगे। दाखिला समिति ने एक्स्ट्रा करिकुलर एक्टिविटी (ईसीए) और स्पो‌र्ट्स दाखिले की रूपरेखा भी तैयार कर ली है। कोरोना काल में किए गए राहत (सेवा) कार्य दाखिले में मददगार साबित होंगे। एनसीसी और एनएसएस में दाखिले के लिए सेवा कार्य के लिए न्यूनतम तीन, जबकि अधिकतम 24 अंक मिलेंगे।

हर कालेज में एक प्रतिशत सीट ईसीए और पांच प्रतिशत स्पोर्ट्स कोटे के लिए 

दाखिला समिति पदाधिकारियों ने बताया कि प्रत्येक कालेज में एक प्रतिशत सीट ईसीए, जबकि पांच प्रतिशत सीटें स्पो‌र्ट्स कोटे के तहत आरक्षित होती हैं। ईसीए के तहत एनसीसी में सर्टिफिकेट के आधार पर दाखिले दिए जाते हैं। इस बार डीयू कोरोना संक्रमण के दौरान किए गए सेवा कार्य को भी इसमें जोड़ेगा। यदि छात्र ने किसी एक क्रियाकलाप का दस्तावेज अपलोड किया है तो न्यूनतम नंबर दिए जाएंगे। दो से अधिक दस्तावेज अपलोड करने पर अधिकतम नंबर मिलेंगे।

जमा करना होगा दस्तावेज

छात्र को कोरोना संक्रमण काल के दौरान किए गए सेवा कार्य का भी दस्तावेज जमा करना होगा। इसके लिए न्यूनतम तीन, जबकि अधिकतम छह नंबर मिलेंगे। यदि छात्र ने किसी सरकारी कैंप में रहकर सेवा की है तो न्यूनतम 15, जबकि अधिकतम 24 नंबर दिए जाएंगे।

सेवा घंटे के हिसाब से मिलेंगे अंक

डीयू प्रशासन ने बताया कि एनएसएस दाखिले में भी कोरोना सेवा कार्य के अंक जुड़ेंगे। यदि किसी छात्र ने सरकार द्वारा आयोजित कोरोना कैंप में 120 से 140 घंटे तक कार्य किया है, तो उसे 12 अंक मिलेंगे। यदि छात्र ने एक से अधिक महीने में 240 घंटे से अधिक सेवा कार्य किया है तो उसे 12 अंक दिए जाएंगे। एनएसएस में दाखिले के दौरान 75 प्रतिशत अंक सर्टिफिकेट से तय होंगे।

अधिकतम तीन श्रेणियों में आवेदन

डीयू प्रशासन ने बताया कि ईसीए के तहत दाखिले के लिए छात्रों को आनलाइन दाखिला पोर्टल पर पंजीकरण करवाना होगा। छात्र तीन श्रेणियों में आवेदन कर सकते हैं। एनएसएस और एनसीसी को छोड़ बाकी श्रेणियों में दाखिले के लिए 25 प्रतिशत सीयूईटी, जबकि 75 प्रतिशत ईसीए स्कोर को वेटेज दिया जाएगा। इस 75 प्रतिशत में भी 60 प्रतिशत ट्रायल और 15 प्रतिशत दस्तावेज के अंक जोड़े जाएंगे। छात्र प्रत्येक श्रेणी के लिए पिछले पांच वर्ष के पांच सर्वाेत्कृष्ट दस्तावेज अपलोड करेंगे। इसमें से अधिकतम नंबर वाले किन्हीं तीन दस्तावेज को आधार बनाया जाएगा। चूंकि कोरोना काल में लाकडाउन के कारण आयोजन बंद थे, इसलिए इस बार आनलाइन आयोजनों के दस्तावेज भी मान्य होंगे।

14 श्रेणियों में होते हैं दाखिले

ईसीए के तहत क्रिएटिव राइटिंग (हिंदी-अंग्रेजी), डांस (भारतीय शास्त्रीय, भारतीय लोक, पश्चिमी, कोरियोग्राफी), डिबेट (हिंदी-अंग्रेजी), डिजिटल मीडिया (फोटोग्राफी, फिल्म मेकिंग, एनिमेशन), फाइन आर्ट (स्केचिंग-पेटिंग, मूर्तिकला), म्यूजिक वोकल (इंडियन, वेस्टर्न), भारतीय संगीत वाद्य, पश्चिमी संगीत वाद्य, थियेटर, क्विज, एनसीसी, एनएसएस, योग, धर्मशास्त्र में दाखिले दिए जाते हैं।

Edited By: Prateek Kumar