नई दिल्ली, जागरण संवाददाता। लड़कियों के माध्यम से जाल में फंसाकर (हनी ट्रैप) उगाही करने वाले गिरोह में शामिल सिपाही प्रदीप कुमार ने अपने ही बहनोई को शिकार बना लिया। सिपाही ने बहनोई का मोबाइल नंबर गिरोह के सदस्यों को उपलब्ध कराया और फिर जाल में फंसाकर 25 लाख रुपये मांगे।

15 लाख रुपये वसूलने के बाद 10 लाख रुपये और देने का दबाव बनाया तो बहनोई ने क्राइम ब्रांच में शिकायत कर दी। पुलिस ने प्रदीप समेत छह आरोपियों को गिरफ्तार कर गिरोह के काले कारनामों से पर्दा उठाया। सरगना समेत अन्य कई आरोपियों की तलाश जारी है। प्रदीप सोनीपत (हरियाणा) के गांव फरमाना का रहने वाला है।

दिल्ली पहुंची सामूहिक दुष्कर्म की शिकार हुई अमेरिकी महिला

संयुक्त आयुक्त अपराध रविंद्र यादव ने बताया कि रोहिणी सेक्टर-16 में कर्मचारी राज्य बीमा अस्पताल में क्लर्क पवन ने शिकायत दी थी कि उन्हें हनी ट्रैप मे फंसाया गया है। एक महिला ने उन्हें फोन करना शुरू किया और फिर बुराड़ी में मिलने के लिए बुलाया।

17 नवंबर को वह बुराड़ी की बंगाली कॉलोनी उससे मिलने पहुंचे। वह जब कमरे में घुसे तो महिला ने उनसे बातचीत शुरू की। इसी बीच पुलिसकर्मी और महिला पत्रकार के रूप में दो लोग वहां पहुंचे और उसे पीटना शुरू कर दिया। उन्होंने पवन से कहा कि इस बारे में उसके परिजनों को बता देंगे।

दुबई में नौकरी के नाम पर ठगी, युवक ने गंवा दिए साढ़े 8 लाख रुपए

मामले को रफा दफा करने के बदले 25 लाख रुपये मांगे। पवन ने परिचितों से 15 लाख रुपये लेकर उन्हें दिए। इसके बाद उन्हें 10 लाख रुपये और देने को कहा तो पवन ने क्राइम ब्रांच में शिकायत की। पुलिस को 18 दिसंबर को सूचना मिली कि गिरोह की सदस्य शाहजहांपुर (उत्तर प्रदेश) निवासी रीना उर्फ तबस्सुम (28) बहन की शादी में शामिल होने के लिए नई दिल्ली रेलवे स्टेशन से शाहजहांपुर जा रही है। टीम ने उसे स्टेशन से ही दबोच लिया।

गुरुग्राम: पड़ोसी ने 10 साल की बच्ची के साथ किया दुष्कर्म, गिरफ्तार

रीना ने बताया कि झड़ौदा चौकी में तैनात सिपाही प्रदीप (26) गिरोह में शामिल है। प्रदीप ने बहनोई पवन का मोबाइल नंबर उपलब्ध कराया था। उसने बताया था कि पवन को फंसाने पर मोटी रकम मिल सकती है। उसने उगाही की रकम 6 लाख रुपये रखी थी। रीना ने यह भी बताया कि गिरोह में आदर्श भारत टाइम्स नाम से छपने वाले अखबार का मालिक कृष्ण नंद भट्ट (48) भी शामिल है।

कृष्ण बुराड़ी के प्रधान एन्क्लेव में रहता है। रीना से मिली जानकारी पर पुलिस ने प्रदीप, कृष्ण के अलावा बाबा कॉलोनी बुराड़ी निवासी जीत (28), बुराड़ी गोधी निवासी निधि सिंह (27) और प्रकाश विहार करावल नगर निवासी अंकिता उर्फ अराधना शर्मा को गिरफ्तार कर लिया।

बेटी की शादी से पहले ही लाखों लेकर फरार हुआ वेडिंग प्लानर, मामला दर्ज

Posted By: Amit Mishra

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस