नई दिल्ली [वीके शुक्ला]। आवेदन के एक सप्ताह तक इंतजार के बाद दिल्ली में रविवार से हाई सिक्योरिटी रजिस्ट्रेशन प्लेट (एचएसआरपी) और कलर कोड स्टीकर लगाने की होम डिलीवरी शुरू हो गई है। पहले दिन 349 ऑर्डर (336 एचएसआरपी और 13 स्टीकर) की होम डिलीवरी की गई। वहीं डीलरों के यहां सोमवार से नंबर प्लेट लगाने का काम शुरू किया जाएगा। हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट व स्टीकर लगाने वाली रोजमार्टा सेफ्टी सिस्टम के अनुसार पहले दिन 349 ऑर्डर की होम डिलीवरी की गई। इस संबंध में अब तक 2500 से ज्यादा ऑर्डर होम डिलीवरी के मिल चुके हैं। जिसके लिए वाहन मालिकों से अतिरिक्त शुल्क लिया जाता है। कार के लिए 250 रुपये और दोपहिया वाहन के लिए 125 रुपये का शुल्क लिए जाते हैं।

होम डिलीवरी के लिए आवेदन करने वाले कोरोना काल में रजिस्ट्रेशन प्लेट लगवाने की इस प्रक्रिया को सबसे बेहतर मान रहे हैं। एक अधिकारी ने बताया कि वाहन डीलर त्योहारी सीजन के दौरान भीड़ से निपट रहे हैं। इसलिए अभी डीलरों पर अधिक जोर नहीं दिया जा रहा है। सोमवार से डीलरों के यहां भी इसे शुरू किया जाएगा। मगर अभी डीलरों के यहां बहुत अधिक काम नहीं दिया जाएगा। इसे दिवाली के बाद 18 नवंबर से बढ़ाया जाएगा। उन्होंने कहा कि हम धीरे-धीरे दूसरे चरण में बुकिंग की 2,000 तक बढ़ाएंगे और तीसरे चरण में 5,000 प्रति दिन तक बढ़ाएंगे।

बता दें कि होम डिलीवरी की प्रक्रिया के तहत कर्मचारी आवेदन करने वाले के घर पर जाकर वाहन में नंबर प्लेट और स्टीकर लगाता है। दिल्ली में एक नवंबर से एचएसआरपी और कलर कोड स्टीकर लगाने के लिए आवेदन की प्रक्रिया शुरू हुई थी। जिसके बाद सात नवंबर से इन्हें लगाने का कार्य शुरू हो गया। हालांकि इससे पहले सितंबर महीने में भी नंबर प्लेट और कलर कोड स्टीकर लगाने की प्रक्रिया शुरू हुई थी। लेकिन हाई सिक्योरिटी प्लेट लगवाने में दिक्कत सामने आने पर उसे रोक दिया गया था। अब तक 20 हजार के लगभग लोग एचएसआरपी और कलर कोड स्टीकर के लिए आवेदन कर चुके है। एक दिन में 500 ऑर्डर होम डिलीवरी और दो हजार ऑर्डर डीलर के यहां एचएसआरपी व स्टीकर लगाने के लिए स्वीकार किए जा रहे हैं।

 

हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट के लिए ऐसे करें अप्लाई

अगर आप भी हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट के लिए अप्लाई करना चाहते हैं तो यह बिल्कुल आसान है। घर बैठे आप इसके लिए आवेदन कर सकते हैं। इसके लिए bookmyhsrp.com/index.aspx पर जाकर क्लिक करें। साइट खुलते ही आपको प्राइवेट और कमर्शियल वाहन के दो विकल्प दिखाई देंगे। प्राइवेट व्हीकल टैब पर क्लिक करने पर वाहनों की श्रेणी खुलेगी। इसमें आपको पेट्रोल, डीजल, इलेक्ट्रिक, सीएनजी और सीएनजी प्लस पेट्रोल के विकल्प को चुनना पड़ेगा। इसके बाद जो-जो जानकारी मांगी जाएगी उसको भरते जाइए। अंत में उपभोक्ता को रजिस्ट्रेशन नंबर, रजिस्ट्रेशन तारीफ, इंजन और चेचिस नंबर, ई-मेल और मोबाइल नंबर की जानकारी देनी होगी।

Coronavirus: निश्चिंत रहें पूरी तरह सुरक्षित है आपका अखबार, पढ़ें- विशेषज्ञों की राय व देखें- वीडियो

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस