नई दिल्ली/गाजियाबाद, जागरण संवाददाता। Delhi Metro: दिल्ली मेट्रो के ब्लू लाइन कॉरिडोर का विस्तार यूपी के गाजियाबाद में अब वैशाली से मोहननगर तक किया जाएगा। इतना ही नहीं, अब इसका ही निर्माण पहले किया जाएगा। इस लाइन पर यात्रियों की अधिक संख्या को देखते हुए उपयोगिता तय की गई है।

10 दिन में मांगी डीपीआर

बृहस्पतिवार को गाजियाबाद विकास प्राधिकरण (जीडीए), दिल्ली मेट्रो रेल कॉरपोरेशन (डीएमआरसी) और नेशनल कैपिटल रीजन ट्रांसपोर्ट कॉरपोरेशन (एनसीआरटीसी) के बीच हुई बैठक में इस पर निर्णय लिया गया। जीडीए ने डीएमआरसी से 10 दिन में इस कॉरिडोर की संशोधित डीपीआर मांगी है। पहले इस लाइन का विस्तार साहिबाबाद तक प्रस्तावित हुआ था। मेट्रो कॉरिडोर का विस्तार साहिबाबाद तक किया जाएगा। इसका निर्माण बाद में होगा। पूर्व में तय हुआ था कि इस कॉरिडोर को मोहननगर तक बनाया जाएगा।

1787 करोड़ रुपये के खर्च अनुमान

वैशाली से मोहननगर तक ब्लू लाइन मेट्रो कॉरिडोर का 5.066 किलोमीटर का विस्तार होगा। इस बीच प्रहलादगढ़ी, वसुंधरा सेक्टर-14, साहिबाबाद और मोहननगर स्टेशन बनाया जाएगा। इस कॉरिडोर को साहिबाबाद स्टेशन पर दिल्ली-मेरठ रैपिड रेल कॉरिडोर से जोड़ा जाएगा। जिससे यात्री दोनों कॉरिडोर का भरपूर लाभ ले सकें। इसे बनाने में करीब 1787 करोड़ रुपये का खर्च आने का अनुमान है।

कई बदलावों के बाद मूल डीपीआर अपनाई

मूल डीपीआर में ब्लू लाइन मेट्रो कॉरिडोर का विस्तार वैशाली से मोहननगर तक प्रस्तावित किया गया था। बाद में इस डीपीआर में संशोधन का सुझाव दिया गया। उस पर संशोधित डीपीआर वैशाली से साहिबाबाद तक बनाई गई थी। तीसरी बार फिर से इसमें संशोधन कर मूल डीपीआर को अपनाने पर सहमति बनी है। डीएमआरसी ने अपना मत रखा की वैशाली से मोहननगर तक जाने वालों की संख्या ज्यादा है। इससे ब्लू लाइन कॉरिडोर की उपयोगिता बढ़ जाएगी। इस रूट पर एनसीआरटीसी रैपिड रेल कॉरिडोर का निर्माण कार्य शुरू कर रहा है। इसी के साथ ब्लू लाइन मेट्रो कॉरिडोर को विस्तार करना ठीक रहेगा।

चाहिए 41 हजार वर्ग मीटर जमीन

वैशाली मेट्रो स्टेशन से चार लेन मदन मोहन मालवीय मार्ग और सर्विस रोड के डिवाइडर पर दो किमी तक कॉरिडोर बनाया जाएगा। उसके बाद मदनमोहन मालवीय मार्ग के सेंट्रल वर्ज से होते हुए मोहननगर तक कॉरिडोर ग्रीन बेल्ट पर बनेगा। इसके निर्माण को 41545.9 वर्ग मीटर जमीन चाहिए।

जानिए- खास बातें

  •  ब्लू लाइन मेट्रो कॉरिडोर को वैशाली से मोहननगर तक विस्तार देने पर बनी सहमति-
  •   यात्रियों की संख्या को देखते हुए इस कॉरिडोर को माना गया ज्यादा उपयोगी
  •   रैपिड रेल का निर्माण कार्य शुरू होने के कारण भी दी गई प्राथमिकता
  •  इस मेट्रो कॉरिडोर को साहिबाबाद पर रैपिड रेल कॉरिडोर से जोड़ा जाएगा
  •  जीडीए ने दस दिन में डीएमआरसी से इस कॉरिडोर की डीपीआर मांगी

नोएडा इलेक्ट्रॉनिक सिटी से साहिबाबाद तक ही बनेगा दूसरा मेट्रो कॉरिडोर

नोएडा इलेक्ट्रॉनिक सिटी से मोहननगर तक प्रस्तावित 5.917 किलोमीटर कॉरिडोर की लंबाई घटाई जाएगी। तय हुआ है कि अब इस कॉरिडोर को साहिबाबाद तक ही बनाया जाएगा। साहिबाबाद तक इसे वैशाली-मोहननगर मेट्रो कॉरिडोर से जोड़ा जाएगा। नई डीपीआर में डीपीएस इंदिरापुरम, शक्तिखंड, वसुंधरा सेक्टर-पांच और वसुंधरा सेक्टर-2 स्टेशन रह जाएंगे। कुछ वक्त पहले इस कॉरिडोर के निर्माण को प्राथमिकता दी जा रही थी। अब परिस्थितियों को देखते हुए तय किया गया है कि इस कॉरिडोर को बाद अगले चरण में बनाया जाएगा।

कंचन वर्मा (वीसी, जीडीए) का कहना है कि ब्लू लाइन मेट्रो कॉरिडोर का विस्तार वैशाली से मोहननगर तक किया जाएगा। नोएडा इलेक्ट्रॉनिक सिटी से मोहननगर तक प्रस्तावित दूसरे मेट्रो कॉरिडोर की लंबाई घटाने का निर्णय हुआ है। साहिबाबाद पर ही टर्मिनेट कर दिया जाएगा। इसका निर्माण बाद मे होगा।

पढ़ें- Congress MLA अदिति सिंह की शादी की Inside story, यूपी मायका तो पंजाब बना ससुराल

दिल्ली-एनसीआर की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां पर करें क्लिक

Posted By: JP Yadav

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप