गाजियाबाद (जेएनएन)। जिस प्रेमी को उसकी प्रेमिका दिलोजान से प्यार करती थी उसकी हकीकत सात साल बाद सामने आई। इस हकीकत ने प्रेमिका के होश उड़ा दिए। दरअसल, मुस्लिम समुदाय के युवक ने अपना नाम और धर्म छिपाकर युवती को अपने प्रेम जाल में फंसा लिया। दोनों के बीच प्रेम प्रसंग सात साल तक चला। युवक की मंशा का खुलासा तब हुआ जब युवती ने शादी के लिए दबाव डाला। इसके बाद युवक ने कबूल किया वह गैरधर्म  का है और  वह शादी नहीं करेगा।

जीतपुर कालोनी निवासी युवक रावली रोड पर फल बेचता है। युवक का सात साल से शहर की एक कालोनी निवासी दलित युवती से प्रेम प्रसंग चल रहा था। आरोप है कि समुदाय विशेष के युवक ने अपना नाम व धर्म बदलकर युवती को अपने प्रेम जाल फंसा लिया।

यह भी पढ़ेंः बेटी ने घर में घुसे चोर से ही बना लिया शारीरिक संबंध, जानिये क्या है इसके पीछे का रहस्य

दिया था मंदिर में शादी का झांसा

आरोपी युवक मंदिर में शादी करने का झांसा देकर पिछले सात साल से उसके साथ दुष्कर्म की वारदात को अंजाम दे रहा था। युवती पिछले एक माह से युवक पर शादी का दबाव बना रही थी, लेकिन युवक शादी को लेकर टाल-मटोल कर रहा था।

वहीं, जब काफी प्रयास करने के बाद भी युवक ने शादी के लिए हामी नहीं भरी तो युवती को उसके चरित्र पर संदेह हो गया कि वह अब उससे शादी नहीं करेगा।

मंगलवार को युवती ने शादी करने के लिए सख्ती से कहा तो युवक ने अपना असली नाम व धर्म बताते हुए शादी करने से साफ इंकार कर दिया, लेकिन युवती को इस बात पर यकीन नहीं हुआ। सत्यता का पता लगाने के लिए युवती इसकी पड़ताल की।

इसमें पता चला कि युवक ने धर्म व नाम बदलकर उसे अपने प्रेम जाल में फंसाया है। पीड़िता ने मंगलवार शाम को थाने पहुंचकर आरोपी के खिलाफ तहरीर दी।

इस बारे में थानाध्यक्ष रणवीर सिंह ने बताया कि जीतपुर कॉलोनी निवासी सोनू के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर ली गई। जांच कर कानूनी कार्रवाई की जाएगी।

 

Edited By: JP Yadav