राज्य ब्यूरो, नई दिल्ली। रविवार को साप्ताहिक अवकाश का दिन होने के बावजूद टीकाकरण केंद्रों पर सामान्य दिनों की तरह कोरोना का टीका लगेगा। 45 से अधिक उम्र के नौकरी पेशेवर लोगों को इस मौके का फायदा उठाना चाहिए और सुबह पहले टीकाकरण केंद्रों पर पहुंचकर टीका लगवाना चाहिए। इसके बाद परिवार के साथ छुट्टी मनाएं।

दिल्ली मेडिकल एसोसिएशन के पूर्व अध्यक्ष डा. बीबी वाधवा ने कहा कि लोगों को टीके से घबराने की जरूरत नहीं है। टीका बहुत सुरक्षित है। इसलिए टीकाकरण के पात्र लोग खुद भी टीका लगवाएं और दूसरों को भी प्रेरित करें। टीका लगने के बाद यदि किसी को संक्रमण हुआ तो बीमारी गंभीर नहीं होगी। संक्रमण का असर बहुत हल्का होगा। इसलिए कोरोना की बीमारी से बचाव के लिए टीका लगवाना जरूरी है।

वैक्सीन आने के बाद सरकार ने ये निर्धारित कर दिया है कि किस वर्ग के लोग फिलहाल वैक्सीन लगवा सकते हैं, इसके बाद इसको बढ़ाया जाएगा। अभी यदि 45 साल से कम उम्र के लोग वैक्सीन लगवाने के लिए जा रहे हैं तो कोविन एप पर उनका पंजीकरण नहीं हो रहा है। इस वजह से उनको केंद्र से वापस कर दिया जा रहा है। अगले माह इसके खुल जाने की उम्मीद है उसके बाद 45 साल से नीचे के लोग भी टीका लगवा सकेंगे।

इंडियन मेडिकल एसोसिएशन वित्त सचिव डा. अनिल गोयल ने कहा कि टीकाकरण शुरू हुए ढ़ाई महीने से अधिक समय हो चुका है। फिर भी अभी तक पांच से छह फीसद आबादी को ही टीका लग पाया है। यही वजह है कि केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रलय ने अवकाश के दिन भी टीकाकरण की सुविधा दी है।

कोविन एप पर बगैर पंजीकरण के भी सीधे टीकाकरण केंद्र पर पहुंचकर टीका लगवाया जा सकता है। रविवार को टीका लगवाने के बाद कामकाजी लोग सोमवार को आराम से ड्यूटी भी जा सकते हैं।

Edited By: Vinay Kumar Tiwari