नोएडा (जेएनएन)। अगर लड़का ऊंचे पद पर मोटी तनख्वाह वाला हो और 10 रुपये के स्टांप पेपर पर लिखकर दे कि वह दहेज विरोधी है तो उसकी शादी के लिए रिश्तों की लाइन लगना लाजमी है। इसी का फायदा उठाकर एक लुटेरे दूल्हे ने तीन शादियां कर लीं। उसने दो गर्लफ्रेंड भी बनाईं और सबसे कुल मिलाकर तीन-चार करोड़ रुपये ठगकर आरोपित फरार हो गया। एक अन्य घर में किराएदार बनकर रहने के दौरान आरोपी ने मकान मालिक की बेटी की शादी में कार खरीदवाने और सस्ता इलेक्ट्रानिक सामान दिलवाने के नाम पर लाखों रुपये ठग लिए थे।

आरोपित द्वारा ठगी का शिकार हुई एक नर्स ने नोएडा के थाना सेक्टर-24 में धोखाधड़ी की रिपोर्ट दर्ज कराई थी। करीब एक साल की छानबीन के बाद बृहस्पितवार को पुलिस ने आरोपी को उसकी गर्लफ्रेंड के साथ गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने लुटेरे दूल्हे पर 25000 रुपये का ईनाम घोषित कर रखा था। गिरफ्तार आरोपी की पहचान भोपुरा साहिबाबाद गाजियाबाद निवासी तरुण शर्मा के रूप में हुई है। उसकी गर्लफ्रेंड का नाम दुर्गांशु उर्फ गुड़िया उर्फ अंशु के रूप में हुई है। वह मूलरूप से देहरादून की रहने वाली है। आरोपित तरुण गर्लफ्रेंड अंशु को अपनी बहन बताता था।

पुलिस को गिरफ्तार आरोपितों के पास से एक आई-10 कार, दो कार की नंबर प्लेट, इसी कार की दो फर्जी आरसी, पांच मोबाइल फोन, छह फर्जी आधार कार्ड, पांच डेबिट कार्ड, सात चेकबुक, एक पासबुक, तीन फर्जी मोहरें, रेंट एग्रीमेंट, गाड़ी बुकिंग की पर्चियां, पेन कार्ड और नौ आधार कार्ड की फोटो कॉपी अलग-अलग नाम की बरामद हुई है।

तीन फर्जी शादी की और दो शादीशुदा प्रेमिकाओं को बनाया शिकार

आरोपित तरूण शर्मा ने ठगी करने के लिए तीन फर्जी शादिया की और शादीशुदा महिलाओं को अपने प्रेमजाल में फंसाकर ठग लिया। आरोपित ने सबसे पहले नवंबर 2011 में मेरठ में किराए पर रहते हुए, मकान मालिक से लगभग 25 लाख रुपये ठग लिए थे। मकान मालिक की बेटी की शादी में उसने डिस्काउंट पर कार और अन्य इलेक्ट्रानिक सामान आदि दिलाने का झांसा देकर 10-12 लाख रुपये ले लिए थे। शादी से कुछ दिन पहले पूरा परिवार घर से बाहर गया था। इसी दौरान आरोपी ने उनके घर से पूरी ज्वैलरी और कीमती सामान आदि चोरी कर लिया और ट्रक में लादकर फरार हो गया। मामले में पीड़ित ने मेरठ में भी रिपोर्ट दर्ज कराई थी।

 

इसके बाद तरूण ने चंडीगढ़ में दो शादीशुदा महिलाओं को अपने प्रेमजाल में फंसाया। उनके साथ घूमने-फिरने और मौज-मस्ती करने के दौरान आरोपी ने उनसे भी लाखों रुपये ठग लिए। इसके बाद आरोपी ने अप्रैल 2017 में नोएडा में रहने वाली एक नर्स से शादी कर उससे 40 लाख रुपये ठग लिए। यहां से भागकर आरोपी भोपाल पहुंच गया। भोपाल में आरोपी ने एक बैंक मैनेजर से शादी कर ली। आरोपित अभी उससे लगभग 10 लाख रुपये ही ठग पाया था कि उसका भांडा मीडिया में फूट गया। इसके बाद आरोपित वहां से भाग निकला। भोपाल में भी उसके खिलाफ एफआइआर दर्ज है। एक माह पहले आरोपी ने बनारस की एक लड़की से शादी की थी और उसके साथ इलाहाबाद में रह रहा था। आरोपी उसे ठगने के लिए फर्जी पहचान पत्र आदि बनवाना शुरू कर चुका था।

अगले शिकार की तलाश में था आरोपी एसएसपी डॉ अजयपाल शर्मा ने बताया कि गिरफ्तार आरोपी तरूण शर्मा अब अगले शिकार की तलाश में था। इसके लिए उसने आठ-दस हाई प्रोफाइल लड़कियों का बायोडाटा छांट लिया था। वह अब अपनी गर्लफ्रैंड को बहन बनाकर इन लड़कियों के यहां शादी का प्रस्ताव भेजने की तैयारी में था। हालांकि इससे पहले ही आरोपित को गिरफ्तार कर लिया गया।

ऐसे करता था ठगी

शादी करने के बाद आरोपी नवविवाहिता के साथ ज्वाइंट बैंक अकाउंट खुलवाता था और कुछ महीने में उसमें जमा लाखों रुपये लेकर फरार हो जाता था। इस दौरान वह अलग-अलग बहानों से भी नवविवाहिता से लाखों रुपये लेता रहता था। इसके अलावा वह नवविवाहित के परिवार को भी कभी अच्छी और सस्ती प्रॉपर्टी दिलाने के नाम पर तो कभी डिस्काउंट में कोई कीमती सामान अथवा कार आदि दिलाने के नाम पर ठगता था। इसके लिए आरोपी बताता था कि उसने अपनी तरफ से बुकिंग अमाउंट दे दिया है। कुछ दिन बाद वह लड़की के परिवार वालों से शेष राशि देने को कहता था। उनके घर से रुपये या चेक लेकर आरोपित अपने पास रख लेता था। इसका पता पीड़ित परिवार को तब चलता था, जब आरोपित भाग ठगी कर भाग जाता था।

 

मैट्रीमोनिअल साइट के जरिए तलाशता था शिकार

एसएसपी डॉ अजयपाल शर्मा ने बताया कि आरोपित तरुण शर्मा और उसकी गर्लफ्रेंड मैट्रीमोनिअल साइट के जरिए शिकार तलाशती थीं। मोटी तनख्वाह पर नौकरी करने वाली पैसे वाले घरों की लड़कियों का प्रोफाइल छांटने के बाद आरोपित अपनी गर्लफ्रेंड को बहन बनाकर उनके घर रिश्ता भिजवाता था। साथ ही ऑनलाइन भी उन लड़कियों के प्रोफाइल को लाइक कर चैट करता था।

गर्लफ्रेंड बहन बन बताती थी भाई की शादि कराने की अंतिम इच्छा है

लड़की के घर रिश्ता लेकर जाने वाली आरोपित की गर्लफ्रेंड बताती थी उसके माता-पिता और परिवार के बाकी सदस्यों की एक सड़क दुर्घटना में मौत हो चुकी है। उसे भी ब्रेन ट्यूमर है। मरने से पहले वह अपने भाई (प्रेमी तरूण) का घर बसाना चाहती है। वह तरुण शर्मा की तारीफों का ऐसा पुल बांधती थी कि लड़की के परिवार वाले आसानी से झांसे में आ जाते थे।

शादी में एक रुपये शगुन और एक जोड़ी कपड़ा मांगता था

पूछताछ में आरोपित ने बताया कि वह लड़की के परिवार वालों को बताता था कि परिवार की मौत के बाद उसने अपनी मेहनत पर भोपाल में एक न्यूज पोर्टल खोला है। उसने यू-ट्यूब पर न्यूज पोर्टल की कुछ खबरें भी डाल रखी थीं। वह खुद को न्यूज पोर्टल का निदेशक बताते हुए अपनी तनख्वाह 20 लाख रुपये महीना बताता था। वह खुद को दहेज विरोधी बताते हुए लड़की वालों के सामने शर्त रखता था कि उसे शादी में शगुन के तौर पर केवल एक रुपये और एक जोड़ी कपड़ा ही चाहिए।

प्रेमिका को देता था नशीला पदार्थ

आरोपित तरुण अपनी प्रेमिका अंशु को भी बहन बताकर साथ रखता था। ऐसे में गर्लफ्रेंड के साथ समय बिताने के लिए वह पत्नी को मानसिक रूप से काफी परेशान कर देता था। साथ ही उन्हें खाने-पीने की चीजों में नशीला पदार्थ भी देता था। इससे उसे उसी घर में गर्लफ्रेंड के साथ समय बिताने का समय मिल जाता था। शादीशुदा के बाद उसके बच्चे न हों, इसके लिए वह गर्भनिरोधक उपायों का इस्तेमाल करता था। वह पत्नी से कहता था कि शादी के कम से कम एक साल बाद बच्चा पैदा करेंगे।

लखनऊ में नौ स्कॉर्पियो बुक करा कंपनी से ठगे थे 1.10 करो़ड़ रुपये

पुलिस के अनुसार आरोपित ने लखनऊ में नौ स्कार्पियों गाड़ी अलग अलग व्यक्तियों के नाम पर महिन्द्रा कंपनी में बुक की थी। इसके लिए आरोपित ने कंपनी को एक करोड दस लाख रुपये के चेक दिये, जो सभी बाउन्स हो गये थे। उधर आरोपित ने सभी गाडियो को धोखाधडी से दूसरों को बेच दिया और फरार हो गया।

Posted By: Amit Singh

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप