नई दिल्ली, जेएनएन। जीटी रोड स्थित पूर्वी दिल्ली नगर निगम के एक स्कूल में बच्ची के साथ दुष्कर्म मामले में प्रिंसिपल, टीचर और चौकीदार सहित चार लोग सस्पेंड हो गए हैं। यह कार्रवाई निगम के शिक्षा विभाग ने की है। बता दें की शाहदरा इलाके में नगर निगम के प्राथमिक स्कूल में दस साल की बच्ची के साथ दुष्कर्म का मामला सामने आया था। इस मामले में यहां कार्यरत एक सफाई कर्मचारी पर दुष्‍कर्म का आरोप लगा। उसने बच्ची को डरा-धमकाकर कक्षा के पीछे एक खाली कमरे में वारदात को अंजाम दिया। आरोपित ने पीड़िता को जान से मारने की धमकी दी। घटना के बाद उसकी तबीयत खराब रहने लगी। पीड़िता ने खाना-पीना छोड़ दिया।

ऐसे खुला मामला

इस पर परिजन जब पीड़िता को लेकर डॉक्टर के पास पहुंचे तो वारदात का पता चला। बीते शनिवार को परिजनों ने पुलिस को शिकायत दी। पुलिस ने दुष्कर्म और पॉक्सो एक्ट की धाराओं में मामला दर्ज कर आरोपित श्योराज (38) निवासी मंडावली को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस उससे पूछताछ कर मामले की जांच कर रही है। पीड़िता के माता-पिता बस्ती, उप्र में रहते हैं। करीब एक साल से बच्ची शाहदरा में मौसा-मौसी के साथ रह रही है। यहां आने पर मौसा ने उसका दाखिला निगम के स्कूल में चौथी कक्षा में करवा दिया। स्कूल में आरोपित श्योराज अस्थायी सफाई कर्मचारी है।

ऐसे हुआ हादसा

गत मंगलवार को बच्ची स्कूल गई थी। छुट्टी होने पर वह मौसी के आने का इंतजार करने लगी। इस दौरान आरोपित बहला-फुसलाकर उसे खाली कमरे में ले गया। वहां उसने गला दबाकर बच्ची के साथ दुष्कर्म किया। उसने धमकी दी कि अगर यह बात अपने घर में बताई तो वह जान से मार देगा। यह सुनकर बच्ची डर गई। घर पहुंचकर उसने किसी को कुछ नहीं बताया। अगले दिन बुधवार को उसने कुछ नहीं खाया, न ही स्कूल गई। मौसी ने पूछा तो चुप रही। अगले दिन बच्ची को बुखार हो गया। शनिवार को मौसा बच्ची को लेकर एक डॉक्टर के पास पहुंचे। यहां बच्ची ने बताया कि पेट के निचले हिस्से में दर्द हो रहा है।

डॉक्‍टर ने बच्‍ची की हालत देख कर किया शक

डॉक्टर को मासूम की हालत देखकर कुछ शक हुआ तो उन्होंने मौसी की मौजूदगी में मासूम से पूछताछ की। बच्ची ने डरते-डरते सारी बात बताई। फौरन परिजनों ने मामले की सूचना पुलिस को दी। पुलिस ने मासूम का मेडिकल कराया, इसमें दुष्कर्म की पुष्टि हुई। इसके बाद पुलिस ने श्योराज को गिरफ्तार कर लिया गया। बाद में पीड़िता का बयान कड़कड़डूमा कोर्ट में मजिस्ट्रेट के समक्ष दर्ज करवाया गया। निगम अधिकारियों की जांच के बाद अब यह कार्रवाई हुई है।

Posted By: Prateek Kumar

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप