गाजियाबाद (जेएनएन)। जहरीली शराब पीने से खोड़ा में हुई चार लोगों की मौत मामले में दो निरीक्षकों समेत सात लोगों को निलंबित कर दिया गया है। कार्रवाई की जद में आने वालों में निरीक्षक समेत तीन कर्मचारी आबकारी विभाग व चार पुलिसकर्मी शामिल हैं। पुलिसकर्मियों को एसएसपी ने निलंबित किया है, जबकि आबकारी कर्मियों का निलंबन शासन ने जिलाधिकारी की संस्तुति पर किया है।

एसएसपी हरिनारायण सिंह ने लापरवाही उजागर होने पर प्रभारी निरीक्षक थाना खोड़ा ध्रुव भूषण दूबे, बीरबल चौकी प्रभारी राम समझ राणा, सिपाही राजवीर व मोहम्मद असगरी को निलंबित कर दिया। वहीं जिलाधिकारी रितु माहेश्वरी ने आबकारी निरीक्षक सीलम मिश्रा व सिपाही भोपाल चंद आर्य और जगदीश चंद कांडपाल की लापरवाही मानते हुए निलंबन की संस्तुति शासन को भेजी थी। शासन ने देर शाम संस्तुति पर मुहर लगाते हुए तीनों को निलंबित कर दिया।

बता दें कि जिले के खोड़ा थाना क्षेत्र की शंकर विहार कॉलोनी में सोमवार रात जहरीली शराब पीने से चार लोगों की मौत हो गई, जबकि एक व्यक्ति की हालत गंभीर है। उसका दिल्ली के लाल बहादुर शास्त्री अस्पताल में इलाज चल रहा है।

मूल रूप से बिहार के नालंदा जिले के गांव भिखनी बिघा के रहने वाले अशोक (40), शाहजहांपुर के गांव जलालपुर बेलदारी निवासी संदीप (18) व अवनेश (38) और अलीगढ़ जिले के बाग का गांव निवासी र¨वद्र (30) व श्रीनिवास (40) खोड़ा की शंकर विहार कॉलोनी में परिवार के साथ रहते थे। अवनेश और संदीप जीजा साले हैं, जबकि रवींद्र और श्रीनिवासी सगे भाई हैं। लोगों ने बताया कि सोमवार रात सभी ने शंकर विहार में अवैध तरीके से बिक रही अरुणाचल प्रदेश और दिल्ली मार्का शराब पी। रात में संदीप और अवनेश की तबीयत खराब हो गई। उन्हें दिल्ली के लाल बहादुर शास्त्री अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां इलाज के दौरान दोनों की मौत हो गई। वहीं, मंगलवार सुबह सात बजे पता चला कि अशोक और रवींद्र की घर पर ही सोते हुए मौत हो गई। रवींद्र के भाई श्रीनिवास को परिजनों ने देखा तो वह बिस्तर पर बेहोश पड़े मिले। उन्हें लाल बहादुर अस्पताल दिल्ली में भर्ती कराया, जहां उनकी हालत गंभीर बनी हुई है।

Posted By: JP Yadav