नई दिल्ली, जागरण संवाददाता। दिल्ली से सटे हरियाणा के बहादुरगढ़ थाना क्षेत्र में पुलिस वैन में हुए सनसनीखेज तिहरे हत्याकांड व गुरुग्राम के भोंडसी जेल में हत्या के मामले में आरोपित मोहित व मोनू के साथ साथ हरि ओम व मुकेश को द्वारका जिला पुलिस के वाहन चोरी निरोधक दस्ता ने गिरफ्तार करने में कामयाबी पाई है। ये सभी राजू बासोदी व काला जठेड़ी गिरोह से जुड़े हुए हैं। इनके पास से पुलिस को एक पिस्टल, दो जिंदा कारतूस, डीवीआर, वारदात में प्रयुक्त कार व एक मोबाइल बरामद हुआ है। इन्हीं बदमाशों ने 16 नवंबर की रात बिंदापुर थाना क्षेत्र में एक घर में घुसकर लूटपाट की थी और साढ़े तीन लाख रुपये नकद व आभूषण के अलावा अन्य सामान लूटकर फरार हो गए थे।द्वारका जिला पुलिस उपायुक्त संतोष कुमार मीणा ने बताया कि ¨बदापुर में हुई घटना के बाद मामले की जांच वाहन चोरी निरोधक दस्ता को सौंपी गई।

एसीपी विजय सिंह के मार्गदर्शन व इंस्पेक्टर राम किशन यादव के नेतृत्व में टीम का गठन किया गया। ये टीम नजफगढ़ थाना इलाके में गश्त कर रही थी इसी दौरान पता चला कि बिंदापुर में हुई घटना को मोहित नामक बदमाश ने अंजाम दिया है और वह गुरुग्राम में रह रहा है। इसके बाद टीम गुरुग्राम गई और वहां पर मोहित, मोनू व हरि ओम को गिरफ्तार करने में कामयाबी पाई। पूछताछ में मोहित ने बताया कि तिहरा हत्याकांड व जेल में हत्या के मामले में वह काफी दिनों तक जेल में बंद था। इसके बाद जब वह पैरोल पर बाहर आया तो फिर वापस जेल नहीं गया। ऐसे में उसे भगोड़ा घोषित कर दिया गया।

मोहित ने पुलिस को बताया कि उसे पैसों की सख्त जरूरत थी। वारदात को अंजाम देने के लिए उसने हरिओम, मोनू व मुकेश से बात की और योजना के तहत बिंदापुर में घटना को अंजाम दिया। आरोपितों से पूछताछ के बाद पुलिस ने आरोपित मुकेश को भी गिरफ्तार कर लिया। 

Coronavirus: निश्चिंत रहें पूरी तरह सुरक्षित है आपका अखबार, पढ़ें- विशेषज्ञों की राय व देखें- वीडियो

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस