गाजियाबाद, जेएनएन। केंद्रीय सड़क और राजमार्ग राज्यमंत्री वीके सिंह में वसुंधरा रेड लाइट पर बने छह लेन के फ्लाइओवर का बृहस्पतिवार को लोकार्पण किया। इसके निर्माण में 49 करोड़ की लागत आयी है। इसका निर्माण 2017 में शुरू किया गया था।

मोहननगर के बाद सबसे बड़े जाम प्वाइंट वसुंधरा लाल बत्ती पर लोगों को जाम से पूरी तरह निजात मिल जाएगी। दिल्ली से गाजियाबाद और गाजियाबाद से वैशाली-दिल्ली जाने वाले तीस हजार से अधिक वाहनों का सफर फ्लाईओवर बनने से बेहद आसान हो जाएगा। वसुंधरा चौराहे पर बन रहे छह लेन फ्लाईओवर की लागत करीब 49 करोड़ रुपये आई है। इसकी लंबाई 586 मीटर है।

साहिबाबाद गांव कट के पास से शुरू होकर यह वसुंधरा चौराहे के बाद उतर रहा है। लोकार्पण के बाद फ्लाईओवर को वाहनों के लिए खोल दिया गया है। दिल्ली-गाजियाबाद जाने वाले तीस हजार से अधिक वाहन चालक मोहननगर से आनंद विहार के बीच का सफर महज दस मिनट में पूरा कर सकेंगे। वहीं, मोहननगर से नोएडा और साहिबाबाद औद्योगिक क्षेत्र जाने वाले लोग सर्विस रोड का उपयोग कर आसानी से फ्लाईओवर के नीचे से निकल सकेंगे।

फ्लाईओवर शुरू होने से साहिबाबाद, गाजियाबाद, शालीमार गार्डन, राजेंद्र नगर के अलावा दिल्ली, हरिद्वार, ऋषिकेश और देहरादून जाने वाले वाहनों को जाम से निजात मिल मिल गई है।

रहें सावधान, साहिबाबाद कट पर न हो जाए हादसा
फ्लाईओवर के शुरू होने के साथ लाल बत्ती चौराहे को भी शुरू कर दिया जाएगा। नोएडा और साहिबाबाद औद्योगिक क्षेत्र से आने वाले वाहन चालक पूर्व की भांति चौराहे से होकर गुजरेंगे। वहीं, दिल्ली से गाजियाबाद जा रहे वाहन चालक फ्लाईओवर उतरते समय सावधानी बरतें। जीडीए और ट्रैफिक पुलिस ने फ्लाईओवर उतरते ही साहिबाबाद गांव के सामने बना कट बंद नहीं किया है। ऐसे में गांव से निकलने वाले वाहनों के साथ दुर्घटना की संभावना बनी रहेगी।

एसपी ट्रैफिक श्याम नारायण सिंह ने बताया कि उन्हें फ्लाईओवर शुरू होने की जानकारी जीडीए की ओर से नहीं दी गई है। वहीं, जीडीए मुख्य अभियंता वीएन सिंह ने बताया कि कट बंद करना ट्रैफिक पुलिस का काम है। उन्होंने फ्लाईओवर का निर्माण करवाया है। ट्रैफिक का संचालन ट्रैफिक पुलिस का काम है।

दिल्ली-NCR की ताजा खबरों को पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें
 

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप