नई दिल्ली, जागरण संवाददाता। उत्तरी जिला पुलिस ने ओडिशा और दक्षिण के राज्यों से गांजे की तस्करी करने वाले एक गिरोह का भंडाफोड़ किया है। पुलिस ने गिरोह के पांच सदस्यों को गिरफ्तार किया है। उनकी पहचान रवि ठाकुर, हरवीर गिरी, सतेंदर सिंह, सोनू चतुर्वेदी और मोहम्मद हैदर के रूप में हुई है। तस्करों के पास से 51 किलो गांजा सहित बदमाशों द्वारा प्रयुक्त एक ट्रक और एक कार बरामद की गई है। बदमाश ओडिशा से ट्रक में छुपाकर गांजा दिल्ली लेकर आए थे।

उत्तरी जिला के डीसीपी एंटो अल्फोंस ने बताया कि 17 अक्टूबर को जिला पुलिस ने तस्करों के पास से 181 किलो गांजा बरामद किया था। इस घटना के बाद कश्मीरी गेट थाना पुलिस की एक टीम को आंध्र प्रदेश के विशाखापट्टनम भेजा गया था। वहां, छानबीन में जानकारी मिली थी कि ओडिशा से रायपुर छत्तीसगढ़ रास्ते गांजे की आपूर्ति दिल्ली में की जा रही है।

पुलिस तस्कर गिरोह पर नजर रख रही थी। इसी दौरान पुलिस को पता चला कि तस्कर गिरोह के सदस्य गांजे की आपूर्ति करने वजीराबाद इलाके में आने वाले हैं। इसकी जानकारी मिलते ही स्पेशल स्टाफ के इंस्पेक्टर सुनील कुमार की टीम ने 24 अक्टूबर को कार से आए दो गांजा तस्कर रवि ठाकुर और हरवीर गिरी को गिरफ्तार कर लिया।

तलाशी में कार से दो प्लास्टिक की थैलियों में 10 पैकेट गांजा बरामद किया गया। पूछताछ में आरोपितों ने बताया कि पकड़ा गया गांजा ओडिशा से मंगाया गया था। वे उत्तर प्रदेश (यूपी) के गोला और कालू से गांजा लेकर दिल्ली आए थे। उन्होंने अपने अन्य साथियों के नाम भी पुलिस को बताए। जिसके बाद पुलिस ने अन्य तस्कर सतेंदर सिंह, सोनू चतुर्वेदी और मोहम्मद हैदर को भी धर दबोचा।

वहीं, आरोपितों की निशानदेही पर जिस ट्रक से गांजे की खेप दिल्ली लाई गई थी उसे भी यूपी के मुजफ्फरनगर से बरामद कर लिया गया। पुलिस अधिकारी ने बताया कि सोनू मूल रूप से छत्तीसगढ़ का रहने वाला है जबकि अन्य तस्कर उत्तर प्रदेश के अलग-अलग जिले के रहने वाले हैं। पुलिस अब गिरोह के अन्य सदस्यों की गिरफ्तारी में जुट गई है।

Coronavirus: निश्चिंत रहें पूरी तरह सुरक्षित है आपका अखबार, पढ़ें- विशेषज्ञों की राय व देखें- वीडियो

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021