नई दिल्ली, प्रेट्र। दिल्ली में एक बार फिर डेंगू ने दस्तक दे दी है। राष्ट्रीय राजधानी में डेंगू के पांच नए मामले सामने आये हैं। पांच में से तीन मामले इसी महीने मार्च के ही हैं। जबकि दो मामले जनवरी और फरवरी के हैं। इस साल मलेरिया का कोई मामला सामने नहीं आया है। इसकी जानकारी सोमवार को नगरपालिका की एक रिपोर्ट में सामने आयी है।

रिपोर्ट के अनुसार, दक्षिणी दिल्ली में पिछले साल डेंगू के 2798 मामले सामने आये थे जिनमें से चार लोगों की मौत हो गई थी। रिपोर्ट के अनुसार, इस साल चिकुनगुनिया के तीन मामले सामने आये। चिकुनगुनिया के दो मरीज फरवरी में पाये गए जबकि एक मरीज इसी महीने मार्च में देखा गया।

लगातार बढ़ रहे हैं डेंगू के मामले

दरअसल, आमतौर पर डेंगू के अधिकतर मामले जुलाई से नवंबर के बीच सामने आते हैं लेकिन यह कभी-कभी भी दिसंबर के मध्य तक भी देखा जाता है। सरकार और एनडीएमसी की तमाम कोशिशों के बाद भी दिल्ली में डेंगू के मामलों में लगातार बढ़ोतरी देखी जा रही है।

डेंगू, मलेरिया और चिकुनगुनिया से बचाव के लिए नगरपालिका समय-समय पर कार्यशाला का आयोजन करता रहता है। पिछले साल 1387 घरों में मच्छर पनपने की सूचना प्रशासन को मिली थी। जिसके बाद 2293 लोगों को कानूनी नोटिस जारी किए गए थे।

पिछली साल मिले थे इतने मरीज

रिपोर्ट के अनुसार, पिछले साल डेंगू के कुल 141 मरीज दिसंबर महीने में सामने आये थे। इसके अलावा नवंबर में 1062, अक्टूबर में 1114, सितंबर में 374, अगस्त में 58, जुलाई में 19, जून में 8, मई में 10, अप्रैल में 2, मार्च में एक, फरवरी में 3 और जनवरी में 6 डेंगू के मरीज मिले थे। पिछले साल दिल्ली की तीनों नगर निगमों में 473 मलेरिया और 165 मामले चिकुनगुनिया के सामने आये थे। बता दें कि साल 2017 में डेंगू से 10 लोगों की मौत हो गई थी।

बचाव के ये हैं उपाय

डॉक्टरों ने डेंगू, मलेरिया और चिकुनगुनिया से बचाव के लिए लोगों को अपने घर के आस-पास पानी जमा नहीं करने की सलाह दी है। डॉक्टरों का कहना है कि इससे बचाव के लिए लोगों को अपने घर में पानी जमा करके नहीं रखा चाहिए। मच्छरों से बचाव के लिए कीटनाशक दवाइयों का छिड़काव और मच्छरदानी का इस्तेमाल करना चाहिए।

Posted By: Mangal Yadav

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप