गुरुग्राम (पूनम)। मिस बिहार श्रेया शंकर को फेमिना मिस इंडिया कांटेस्ट में मिस इंडिया यूनाइटेड कांटिनेंट्स चुना गया। शनिवार की रात मुंबई के सरदार वल्लभ भाई पटेल स्टेडियम में फेमिना मिस इंडिया ब्यूटी पेजेंट के फाइनल राउंड के दौरान जब श्रेया का नाम मिस इंडिया यूनाटेड कांटिनेंट्स के रूप में पुकारा गया तो दर्शक के रूप में बैठे पिता बिग्रेडियर अचलेश शंकर, मां अभिलाषा शंकर और छोटी बहन अलीना की आंखें खुशी से भर आईं।

बिग्रेडियर अचलेश शंकर ने दैनिक जागरण को बताया कि वे श्रेया के मिस इंडिया वल्र्ड का खिताब जीतने की उम्मीद कर रहे थे मगर यह भी एक बड़ा उपहार है। हमने अपनी बेटी को हमेशा प्रोत्साहित किया है। उसने बड़े जज्बे के साथ अपनी मेहनत को ब्यूटी पेजेंट के मंच पर प्रस्तुत किया।

श्रेया का जन्म पटना में हुआ है मगर मेरे सेना में अधिकारी होने के नाते वह देश के विभिन्न हिस्सों में रही है। गुरुग्राम के सुशांत लोक में रहने वाले श्रेया के बड़े मामा सीबीआई के पूर्व निदेशक अनिल कुमार सिन्हा के व्यक्तित्व का उस पर बहुत प्रभाव है।

गया के आर्मी ऑफिसर्स ट्रेन‍िंग एकेडमी में पदस्थ बिग्रेडियर अचलेश शंकर कहते हैं  यह हमारे परिवार के लिए बेहद भावुक क्षण है। हम पूरी प्रतियोगिता के दौरान उसका आत्मविश्वास देख रहे थे। पहले 30 प्रतिभागियों में से 12 में वह चुनी गईं। फिर सवाल-जवाब सत्र हुआ, जिसमें एक सवाल उससे पूछा गया कि वह कहीं भी साइनिंग स्‍टार बनने के लिए किन चीजों को जरूरी समझती हैं तो उसने कहा कि जुनून, खुशमिजाजी, अपने काम से प्यार और कड़ी मेहनत।

इस आत्मविश्वास से भरपूर जवाब ने मुझे गौरवान्वित किया। फिर अंतिम राउंड के तीन प्रतिभागियों में वह चुन ली गई। वह खुद को विभिन्न परिस्थितियों में ढाल लेने की क्षमता रखती है। उसकी स्कूली शिक्षा देश के विभिन्न दस स्कूलों में पूरी हुई है। दिल्ली के वसंत कुंज डीपीएस से उसने प्लस टू की पढ़ाई पूरी की। एफबीबी फेमिना मिस इंडिया 2019 कांटेस्ट में बिहार का प्रतिनिधित्व किया।

6 अप्रैल को पटना में हुए मिस बिहार कांटेस्ट में 90 प्रतिभागियों में चुनी गई। फिर कोलकाता में ईस्ट जोन की प्रतिभागियों के बीच चुना गया। वह मुंबई के नरसी मोंजी इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट स्टडीज की छात्रा है। जाने माने फैशन डिजाइनर मनीष मल्होत्रा, नीता लूला, लक्मे और एफबीबी के लिए मॉडलिंग कर चुकी है। एयर राइफल शूटिंग में राज्यस्तरीय चैंपियन है। पर्वतारोहण और गोल्फ की खिलाड़ी भी है।

अचलेश ने बताया कि श्रेया के लिए इम्तिहान का वक्त डेढ़ साल पहले शुरू हो गया था। श्रेया की मां अभिलाषा शंकर एक दिन अचानक बेहोश हो गईं। उन्हें ब्रेन ट्यूमर बताया गया। ब्रेन ट्यूमर की सर्जरी के बाद अभिलाषा के बांयें अंगों में पक्षाघात हो गया और उनकी बोलने की क्षमता जाती रही।

वह डेढ़ महीना आइसीयू में रहीं। उनकी सेवा में अपना करियर को दांव पर लगा रही श्रेया को मां ने अपने दाहिने हाथ से नोट लिखकर दिया कि उसे मिस इंडिया कांटेस्ट में हिस्सा लेना चाहिए। इन परिस्थितियों में जीतना वाकई चमत्कार है। हमें श्रेया पर गर्व है।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Prateek Kumar

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप