नई दिल्ली, जागरण संवाददाता। उत्तरी-जिला के बुराडी थाना क्षेत्र में छेड़खानी का विरोध करने पर शुरू हुए विवाद में महिला के पिता व भाई पर बैट से हमला कर गंभीर रूप से जख्मी कर दिया। अस्पताल में उपचार के दौरान पिता की मौत हो गई, जबकि भाई का इलाज चल रहा है। हालांकि, पुलिस का कहना है कि विवाद कुत्ता बाहर छोड़ने को लेकर शुरू हुआ था। बुराड़ी पुलिस ने हत्या की धारा के तहत मुकदमा दर्ज कर आरोपित चाचा और भतीजे को गिरफ्तार कर लिया है। अन्य आरोपितों की तलाश की जा रही है। पुलिस के मुताबिक कुलदीप कात्याल परिवार के साथ संत नगर में रहते थे। उनकी संत नगर में ही मोबाइल मरम्मत की दुकान है। उनके घर से कुछ दूरी पर ही दूसरी गली में बेटी माला पति अशोक और बच्चों के साथ रह रही हैं। माला के मुताबिक पड़ोस में रहने वाला बकुल अक्सर उन पर फब्तियां कसता रहता था।

आरोप है कि जन्माष्टमी पर बुधवार की रात करीब 11.30 बजे वह मंदिर से लौटी थीं। उसी समय गेट पर बंधा उनका कुत्ता भौंकने लगा। इसी बीच शराब के नशे में धुत बकुल वहां पहुंचा और उसने अभद्र व्यवहार करना शुरू कर दिया। उन्होंने जब इसका विरोध किया तो वह मारपीट करने पर उतारू हो गया। झगड़ा होता देख माला के बेटे गगन ने घर में मौजूद अपने पिता अशोक को बुला लिया। इसी बीच बकुल का चाचा दीपक भी वहां पहुंच गया और दोनों अशोक को पीटने लगे।

इस पर गगन दुकान से नाना कुलदीप और मामा शंभू को बुला लाया। इसी बीच बकुल एवं उसके परिवार के नौ और सदस्य पहुंच गए। आरोप है कि उन्होंने क्रिकेट खेलने वाले बैट और लाठी डंडे से हमला कर दिया। इसमें कुलदीप के सिर पर गहरी चोट लगी, और शंभू भी गंभीर रूप से घायल हो गए। यह देख सभी आरोपित फरार हो गए। इधर परिजन घायल पिता-पुत्र को बाबू जगजीवन राम अस्पताल लेकर गए। यहां से कुलदीप को सफदरजंग अस्पताल रेफर कर दिया गया, जहां उपचार के दौरान बृहस्पतिवार की सुबह करीब नौ बजे उनकी मौत हो गई। रिपोर्ट दर्ज कर बुराड़ी थाना पुलिस ने आरोपित बकुल और उसके चाचा दीपक को गिरफ्तार कर लिया है।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस