नई दिल्‍ली, एएनआइ। 26 जनवरी को किसान ट्रैक्‍टर रैली के बाद दिल्‍ली के लाल किले में हुई हिंसा में कई पुलिस के जवान घायल हो गए थे। इस पूरे घटना का कई वीडियो सोशल मीडिया में वायरल हो रहा है। इंटरनेट पर मौजूद कई वीडियो तो इतना डरावना है कि इसे देख कर उस वक्‍त के हिंसा का अंदाजा लगाने मात्र से ही रूह सिहर उठती है। इसी लाल किले पर हुई हिंसा में घायल एक महिला कांस्‍टेबल रितु होश में आते ही इस पूरे घटनाक्रम का जिक्र किया। महिला पुलिस के खुलासे ये यह पूरी घटना काफी चौंकाने वाली है।

महिला पुलिसकर्मी रितु ने बताया कि उस दिन (26 जनवरी) को मैं अपने साथियों के साथ लाल किले पर ड्यूटी के लिए तैनात थी। इसी क्रम में कई उग्र लोग ट्रैक्‍टर लिए हुए हिंसा फैलाते हुए लाल किले के परिसर के पास आ गए। इसके बाद जो नजारा था वह काफी हैरान करने वाला था। सभी के हाथ में तलवार, लाठी, पत्‍थर के साथ कई अन्‍य चीजे थीं। सभी को देखकर ऐसा लग रहा था मानों इन पर खून सवार था। जैसे ही यह हिंसक भीड़ हमारी तरफ बढ़ी उसी दौरान भागने के क्रम में एक ग्रिल मेरी पैर पर गिर पड़ा। इसी ग्रिल से मेरी एक सहकर्मी के रिब्‍स को काफी चोट लगी। इस तेज चोट के कारण हमें काफी ज्‍यादा दर्द होने लगा। हम चल नहीं पा रहे थे। यह पूरा मंजर काफी भयावह था। इसे सोचकर भी हम डर जाते हैं। 

समाचार एजेंसी के अनुसार एसएचओ (वजीराबाद) पीसी यादव ने बताया कि हमारी तैनाती लाल किल पर थी। इसी दौरान कई लोगों ने लाल किले में घुसने का प्रयास किया। जब हम उनका रास्‍ता रोकने में कामयाब हो गए तब भीड़ उग्र हो गई। सभी आक्रामक होने लगे। यादव ने आगे बताया कि हम लोग किसानों के खिलाफ बल प्रयोग नहीं करना चाहते थे। इसलिए जहां तक संभव हो सका हमने उन्हें रोकने का प्रयास किया।

 

Coronavirus: निश्चिंत रहें पूरी तरह सुरक्षित है आपका अखबार, पढ़ें- विशेषज्ञों की राय व देखें- वीडियो

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप