नई दिल्ली/सोनीपत/गाजियाबाद, जागरण न्यूज नेटवर्क। केंद्र सरकार के तीन नए कृषि कानूनों के खिलाफ आंदोलन कर रहे किसानों ने प्रदर्शन के 100 दिन पूरे होने पर शनिवार को कुंडली-मानेसर-पलवल (केएमपी) एक्सप्रेसवे को जाम किया। शाम करीब पांच बजे किसानों ने धरना खत्म कर दिया। जागरण संवाददाता से मिली जानकारी के मुताबिक,  सोनीपत में हजारों आंदोलनकारियों ने केएमपी और केजीपी पर जाम लगाया। इस दौरान दोनों हाईवे के जीरो प्वाइंट पर चढ़ने और उतरने वाले वाहनों को रोक दिया। इससे दोनों हाईवे पर वाहनों की कतारें लग गई। भारी संख्या में पुलिस बल तैनात रहे। बताया जा रहा है कि 11 बजे की बजाय आंदोलनकारी आधा घंटा पहले ही पहुंचे और जाम लगा दिया था। 

वहीं, ग्रेटर नोएडा में भी अपनी विभिन्न मांगों के समर्थन में भारतीय किसान यूनियन के कार्यकर्ताओं ने ईस्टर्न पेरीफेरल एक्सप्रेस-वे के सिरसा कट पर जाम था, जिसे अब खोल दिया गया है। 

उधर, तीन कृषि कानूनों के विरोध में 28 नवंबर से यूपी गेट पर धरने पर बैठे प्रदर्शनकारी भी ईस्टर्न पेरिफेरल एक्सप्रेस-वे पर केएमपी (कुंडली-मानेसर-पलवल) टोल को फ्री करने व एक्सप्रेस-वे को जाम करने के लिए शनिवार को पहुंचे। शुक्रवार को यूपी गेट धरनास्थल के मंच से प्रदर्शनकारियों के नेताओं ने लोगों से केएमपी पहुंचने की अपील की। इसके साथ ही कल यानि रविवार को यूपी गेट पर महापंचायत का आयोजन होगा। इस महापंचायत में पश्चिमी उत्तर प्रदेश के प्रदर्शनकारियों के साथ अन्य प्रदेशों के प्रदर्शनकारी भी शामिल होंगे। इस महापंचायत में भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय अध्यक्ष नरेश टिकैत व राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत भी शामिल होंगे। इस महापंचायत में अगली रणनीति पर चर्चा की जाएगी। प्रदर्शनकारियों के नेता इस महापंचायत को सफल बनाने के लिए तैयारी में जुटे हुए हैं।

दिल्ली के लोगों के लिए जरूरी खबर, कर लें यह काम वरना कटेगा बिजली-पानी का कनेक्शन

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021